Press "Enter" to skip to content

हिमा दास ने 15 दिन में 4 गोल्ड मेडल जीतकर देश का नाम किया रोशन

19 जुलाई 2019
http://azaadbharat.org
🚩देश की ऐसी अनेकों बेटियां है जो समाज और देश का नाम रोशन कर रही हैं, पर उनको जैसा सम्मान मिलना चाहिए ऐसा मिलता नहीं है । अभी हाल ही में एक विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा ने घर से भागकर शादी कर ली जो एक समाज के लिए ये कार्य उचित नही है फिर भी मीडिया उसका समर्थन करके दिन रात खबरे दिखाई यहाँ तक कि उसकी माँ बीमार थी दवाई ले नही रही थी फिर भी बेटी को कुछ फर्क नही पड़ा ऐसी नीच हरकत करने वाली साक्षी की खबरें मीडिया ने खूब दिखाई, पर देश की वीर बहादुर बेटी हिमा दास ने लगातार 4 गोल्ड मैडल जीते और देश का नाम रोशन किया, लेकिन इसपर मीडिया कोई चर्चा नही कर रहे जबकि साक्षी की चर्चा से देश की बेटियां गलत दिशा में जा सकती है और हिमा दास की चर्चा से देश की बेटियां समाज और देश का नाम रोशन कर सकती हैं ।

🚩आपको बता दें कि भारत की युवा स्प्रिंटर हिमा दास ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा है। उन्होंने 15 दिनों के अंदर चौथा स्वर्ण पदक जीत लिया है। हिमा ने चेक गणराज्य में हुए टाबोर एथलेटिक्स टूर्नामेंट में 200 मीटर स्पर्धा का स्वर्ण जीता।
🚩19 साल की हिमा ने बुधवार को हुई रेस को 23.25 सेकेंड में पूरा करके स्वर्ण पदक जीता। वही वीके विसमाया 23.43 सेकेंड का समय निकालते हुए दूसरे पायदान पर रहीं। यह इस सीजन का उनका सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है।
🚩पुरुष वर्ग में राष्ट्रीय रिकॉर्ड होल्डर मोहम्मद अनस ने 400 मीटर की स्पर्धा में 45.40 सेकेंड का समय निकालते हुए स्वर्ण पदक जीता। अनस ने 13 जुलाई को इसी स्पर्धा में 43.21 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता था।
🚩2 जुलाई के बाद से हिमा का यूरोप में हुए टूर्नामेंट में यह चौथा स्वर्ण पदक है। जीत के बाद उन्होंने ट्वीट किया, ‘आज 200 मीटर में फिर एक स्वर्ण पदक जीता और टाबोर में अपना समय बेहतर करके 23.25 सेकेंड किया।’
🚩उन्होंने दो जुलाई को पोलैंड में हुई पहली रेस को 23.65 सेकेंड में जीता था। स्त्रोत : आज तक
🚩वीर बेटी हिमा दास लगातार आगे बढ़ रही है पर उसकी चर्चा करने का समय भारत की मीडिया के पास नही है, बस थोड़ी कही कोने में खबर दिखा दिया पर जितनी साक्षी मिश्रा की चर्चा की इतनी चर्चा क्यो नही की गई?
🚩हिमा दास के पास सप्लीमेंट और प्रोटीन कभी नहीं थे जो सिर्फ दाल और चावल खाकर उस मुकाम पर पहुंची है। वह कभी स्टेडियम के पक्के ट्रैक पर नहीं दौड़ पाई क्योंकि उसके लिए तो खेतों के कच्चे रास्ते ही उसके सपने और देश के सपने पूरे करने वाले थे।
🚩हिमा दास ने जब देश के लिए विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता उसकी आंखें आंसुओं से भरी हुई थी जब राष्ट्रीय गान चल रहा था । यह आंसू गोल्ड मेडल के नही थे यह आंसू थे भारत का नाम रोशन करने के लिए भारत के राष्ट्रगान के सम्मान में और अब लगातार भारत का नाम रोशन करती जा रही है । हिमा दास सभी तरह की प्रतियोगिता में भारत को पदक अवश्य दिलाती है।
🚩हिमा दास को जो जीत में राशि मिली वो अपने पास नहीं रखी बल्कि उसने अभी हाल ही में असम बाढ़ पीड़ितों के लिए राशि दान कर दी इसे कहते हैं अपने देश अपने राज्य के प्रति वफादारी ।
🚩जब क्रिकेट मैच होता है तो अरबों रुपये का खर्च होता है, अधिकतर देशवासी उसके पीछे पागल रहते हैं, जबकि वे एक सट्टा बाजार है फिर भी देशवासी उसके पीछे पैसे और समय बर्बाद करते हैं, पर ऐसी बहादुर बेटी जो देश का नाम रोशन कर रही है और अपने पैसे देशवासियों की सेवा में लगा दिया उसके लिए न मीडिया को समय है और ना ही देशवासी उनका हौसला बुलंद करते है।
🚩अब हमें ऐसे सच्चे देशभक्त का हौसला बढ़ाना होगा जिससे उसे भी देशवासियों पर गर्व और बढ़े और इसी तरह देश का नाम और रोशन करें।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Translate »