Press "Enter" to skip to content

ऐसा कलेक्टर पूरे देश मे हो जाये तो कोई भी माता-पिता दुःखी नही होंगे

29 जनवरी 2019

*🚩पाश्चात्य संस्कृति के अंधानुकरण और कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ने के कारण आज बेटा-बेटी अपने माँ-बाप की सेवा नही करते हैं और वृद्धावस्था में मां-बाप दुःखी रहते हैं। लेकिन छिंदवाड़ा के कलेक्टर ने एक ऐसा आदेश निकाला जिसके कारण माँ-बाप प्रसन्न हो जाएंगे और बेटा-बेटी अपने माँ-बाप की पूजा करेंगे।*

*🚩आपको बता दें कि मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में कलेक्टर डॉ. श्री निवास शर्मा जी ने एक नोटिस जारी करके लोगों से अपील की है कि वह 14 फरवरी वेलेंटाइन-डे पर अपने माता-पिता की पूजा करें।*

*🚩छिंदवाड़ा के कलेक्टर कार्यालय से जारी नोटिस में लिखा है कि बच्चों तथा युवा वर्ग में माता-पिता के प्रति पूज्य भाव प्रदर्शित करने की आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए आगामी 14 फरवरी 2020 को छिंदवाड़ा जिले में मातृ पितृ पूजन दिवस के रूप में मनाया जाए। जिले की समस्त शैक्षणिक तथा सामाजिक संस्थाओं में यह कार्यक्रम विशेषरूप से मनाया जाए। घर, परिवार, गांव तथा शहरों एवं मोहल्लों में भी इस प्रकार के आयोजन कर इसे बृहद स्वरूप प्रदान करने की अपेक्षा की जाती है।*

*🚩गौरतलब है कि 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे की जगह मातृ पितृ पूजन दिवस अभियान हिन्दू संत बापू आशारामजी ने  ( AsharamBapu ) ने 2006 से प्रांरभ किया था। जिसका अनुसरण कई सालों से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सरकार कर रही थी और वर्तमान सरकार भी 14 फरवरी को मातृ-पितृ पूजन मनाने के लिए पत्र भी जारी किया था।*


*🚩छिंदवाड़ा कलेक्टर द्वारा कई सालों से बापू आसारामजी का अनुसरण करके मातृ पितृ पूजन दिवस रूप में मनाने के फैसले को कई हिन्दू संगठनों के साथ साथ हिंदू महासभा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष चंद्र प्रकाश कौशिक ने समर्थन किया तथा अपने एक वक्तव्य में उन्होंने कहा कि, ” वैलेंटाइन-डे पश्‍चिम सभ्‍यता की देन है। वहाँ पर ये दिन प्रेम के इजहार के रूप में मनाते है। भारत में इसे मनाने का कोई औचित्‍य नहीं है । हमारे देश में साल के 365 दिन प्रेम के लिए होते हैं । ऐसे में भला 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाने का क्‍या औचित्‍य है । ”

*🚩उल्लेखनीय है कि हिंदू महासभा सहित अन्‍य कई हिंदू संगठन पिछले कई सालों से पश्चिमी सभ्यता के त्यौहार वैलेंटाइन डे का विरोध करते आये हैं ।*

*🚩इसके लिए वे हर साल प्रेम के नाम पर अश्लीलता फैलाने वाले जोड़ों का पार्कों से लेकर रेस्‍टोरेंट तक विरोध करते रहे हैं। भारत में ‘वैलेंटाइन डे’ का प्रचलन बॉलीवुड फिल्मों से बढ़ा। जो कि देश के लिए घातक सिद्ध हो रहा है।*

*🚩छिंदवाड़ा के कलेक्टर की जनता एवं कई हिन्दू संगठन भूरी-भूरी प्रशंसा कर रहे हैं।*

*🚩“वेलेंटाइन डे मनाकर भारत भी कहीं इसी दिशा में तो नहीं जा रहा….???*

*🚩अमेरिका में 7% बच्चे 13 वर्ष की उम्र से पहले ही यौनसंबंध बना लेते हैं ।  85 % लड़के और 77% #लड़कियाँ 19 वर्ष के पहले ही यौन संबंध बना लेते हैं | इससे जो समस्याएं पैदा हुई, उनको मिटाने के लिए वहाँ की सरकार को करोड़ो रुपये खर्च करके भी सफलता नहीं मिल रही है।*

*🚩पाश्चात्य सभ्यता की गन्दगी से युवावर्ग का चारित्रिक पतन होते देख लोकहितकारी पूज्य आसारामजी बापू का हृदय विह्वल हो उठा और उन्होंने वैलेंटाइन डे की जगह “मातृ_पितृ_पूजन_दिवस” का आव्हान कर विकारों के घोर अंधकार से संयम के प्रकाश की ओर आगे बढ़ने का अभूतपूर्व प्रयास किया । जिसका आज पूरा विश्व अनुसरण करने लगा है ।*

*🚩संत आशारामजी बापू की प्रेरणा से पिछले तेरह वर्षों से देश-विदेश में करोड़ो लोग “वेलेंटाइन डे” मनाने के बदले “मातृ पितृपूजन दिवस” मना रहे हैं। इस विश्वव्यापी अभियान से लाखों युवावर्ग पतन से बचे हैं एवं उनके जीवन में संयम व सदाचार के पुष्प खिले हैं ।*

*🚩गौरतलब है कि बापू आसारामजी के पास निर्दोष होने के प्रमाण होते हुवे भी 6+ साल से जोधपुर जेल में बंद हैं लेकिन उनके बताए अनुसार उनके करोड़ो भक्तगण आज भी देश-विदेश में स्कूलों, कॉलेजो, जाहिर स्थलों में मातृ पितृ पूजन दिवस मना रहे हैं ।*

*🚩उनका अनुसरण करके कई हिन्दू संगठन, सरकार, छिंदवाड़ा के कलेक्टर आदि भी 14 फरवरी को मातृ पितृ पूजन दिवस के रूप में मनाने का आव्हान कर रहे हैं ।*

*🚩हम सबका भी फर्ज बनता है कि पाश्चात्य संस्कृति का अनुसरण न करके अपनी महान संस्कृति की महानता समझें और दूसरों तक भी अपनी संस्कृति की सुवास पहुचाएं तथा उन्हें भी वैंलेंटाइन डे के दिन ‘#मातृ_पितृ_पूजन_दिवस’ मनाने की सलाह दें।*

*🚩आओ ये दिन उनके नाम करें, जो हमसे सच्चा प्यार कर, अपना हर दिन हमारे नाम करते हैं ।*

🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻


🔺 facebook :




🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG

🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Translate »