Press "Enter" to skip to content

उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने फरमान किया जारी : 24 घण्टे में गौहत्या करे बन्द

20 August 2018
http://azaadbharat.org
🚩भारत देश में गाय का बड़ा योगदान रहा है और उसकी महत्ता भी भारी है । गाय माता के दूध-दही-घी-मूत्र-गोबर से बने पंचगव्य से भयंकर बीमारियां भी ठीक हो जाती है, गाय के अंदर 33 करोड़ देवता का वास होता तभी तो भगवान श्री कृष्ण भी स्वयं गाये चराते थे, यहाँ तक बताया गया है की गाय के गोबर से जहाँ लीपन किया जाता है वहाँ अगर परमाणु बम भी गिरे तो भी उसकी असर नही होती है । गाय की उपयोगिता के बारे में कितना भी लिखो वो कम है ।
🚩देशवासी गाय को माता मानते हैं और उसका पूजन करते हैं, लेकिन दुर्भाग्य है कि आज भी देश में हजारों गाएं कट रही है, लेकिन वहीं एक अच्छी खबर भी आई है कि उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने गौहत्या पर पूर्णतः प्रतिबंध लगा दिया है ।
Uttarakhand High Court commits verdicts: Cow do not go off in 24 hours
🚩उत्तराखंड में गाय और अन्य आवारा पशुओं की सुरक्षा के लिए अब न्यायालय भी सामने आया है । उच्च न्यायालय ने राज्य में गौहत्या पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है ।
🚩कार्यवाहक चीफ जस्ट‍िस राजीव शर्मा और जस्ट‍िस मनोज कुमार तिवारी की खंडपीठ ने अपने आदेश में पूरे उत्तराखंड में गाय, बैल, सांड, बछिया या बछड़े का, किसी भी उद्देश्य के लिए हत्या पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है ।
🚩न्यायालय ने ‘परेन्स पैट्रिए’ सिद्धांत का उपयोग करते हुए गाय और अन्य आवारा पशुओं की भलाई के लिए निर्देश जारी किए हैं । लैटिन शब्द परेन्स पैट्रिए का मतलब है, ‘अपने देश के माता-पिता’ और इस सिद्धांत के तहत किसी राज्य को यह अधिकार होता है कि वह ऐसे निरीह प्राणियों के संरक्षण के लिए कानून बनाए, जो अपनी रक्षा स्वयं नहीं कर सकते हैं ।
🚩न्यायालय ने राज्य के सभी सर्किल ऑफिसर को आदेश दिया है कि 24 घंटे के अंदर यह सुनिश्चित करें कि अब किसी भी गाय की हत्या न हो ।’ इसके अलावा न्यायालय ने यह निर्देश भी दिए हैं कि ‘कोई भी पशु यदि सड़कों, चौराहों और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर पाया जाता है तो उनके मालिक पर मुकदमा कायम किया जाए ।’
🚩न्यायालय ने सड़कों पर यातायात को सुचारु रूप से चलाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्गों तथा राज्य के राजमार्गों के विभाग, ग्राम पंचायतों और नगर निगमों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि ‘सड़कों पर कोई भी आवारा पशु घूमता दिखाई न दे ।’ न्यायालय ने यह भी कहा कि आवारा पशुओें को सड़कों से हटाते समय पूरी दया और करुणा दिखाई जाए और यह ध्यान रहे कि उन्हें किसी प्रकार के अनावश्यक दर्द का सामना न करना पड़े ।
स्त्रोत : आज तक
🚩आपको बता दें कि कुछ समय पहले हैदराबाद उच्च न्यायालय के जज बी. शिवा शंकर राव ने कहा था कि गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा मिलना ही चाहिए । साथ ही उन्होंने गाय को पवित्र राष्ट्रीय धरोहर बताते हुए यह भी कहा कि पवित्र गाय का स्थान मां और भगवान के तुल्य है ।
🚩कुछ समय पूर्व राजस्थान उच्च न्यायालय ने भी गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा देने की बात कही थी ।
भारत के ऐसे सपूत वीर न्यायधीशों को प्रणाम है जो करोड़ों हिन्दुओं की भावनाओं को समझ रहे हैं और गाय माता की महत्ता समझे हैं ।
🚩आज जो हमारे देश मे भूकंप, बाढ़ आदि आते हैं, उसका कारण भी गौहत्या ही है, जब गाय की हत्या हो रही होती है, तब उसकी चीख जो निकलती है उससे पृथ्वी माता काँपने लगती है । केरला में सरेआम गौहत्या की गयी थी, आज उसका परिणाम सभी केलरवासी भुगत रहे हैं ।
🚩शास्त्रों में लिखा है कि
भूकंप कहे गाइ की गाथा।
कांपे धरा त्रास अति जाता।
अथार्त् जब गौमाता को कष्ट होता है, तभी पृथ्वी कांपती है अर्थात भूकम्प आता है ।
🚩अथर्ववेद के अनुसार- गाय समृद्धि का मूल स्रोत व प्रचुरता की द्योतक है एवं सृष्टि के पोषण की स्रोत व जननी है । गाय माता में 33 करोड़ देवताओं का वास हैं ।
🚩गाय को सताना घोर पाप है । उसकी हत्या से तो नर्क के द्वार खुल जाते हैं तथा करोड़ों जन्मों तक दुख भोगना पड़ता है ।
🚩“गौमय वसते लक्ष्मी” यह हमारी प्राचीन भारतीय वैज्ञानिक संस्कृति का मूल-मंत्र रहा है ।
🚩आज के वैज्ञानिक भी कहते हैं कि गाय ही एकमात्र ऐसा पवित्र प्राणी है जो ऑक्सीजन ग्रहण करता है और ऑक्सीजन ही छोड़ता है ।
🚩रुसी वैज्ञानिक शिरोविच ने बताया है कि 1 चम्मच गौघृत जला कर हम 1 टन  प्राणवायु प्राप्त कर सकते हैं ।
🚩बता दें कि एलोपैथिक दवाओं, रसायनिक खादों, प्रदूषण आदि के कारण शरीर में एकत्रित विष गाय के दूध से ही नष्ट होता है ।
🚩गौ माता का दूध,दही,गौ-मूत्र,गोबर आदि जीवन के लिए उपयोगी होने के साथ-साथ वरदान स्वरुप है ।
🚩अमेरिका केंसर की दवा बनाने के लिए भारत से गौमूत्र आयात करता है और हम लोग पवित्र गौ-माता को कत्लखाने भेज देते हैं । ये उचित नहीं है ।
🚩प्रत्येक हिन्दुस्तानी का यह परम् कर्तव्य है कि वो गौ-गीता और संतों का सम्मान करें । ऐसा करेंगे तभी हम देश को सही दिशा की ओर ले जा पाएंगे और देश को गुलाम होने से बचा पाएंगे ।
🚩मोदी सरकार ने जैसे रातोंरात नोटबन्दी कर दी थी, वैसे ही रातोंरात घोषणा कर देनी चाहिए कि पूरे देश में गौहत्या बंद हो और गाय को राष्ट्रीय माता घोषित करके गौहत्यारों को फांसी की सजा का प्रावधान कर देना चाहिए ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani August 20, 2018

    मोदी सरकार ने जैसे रातोंरात नोटबन्दी कर दी थी, वैसे ही घोषणा कर देनी चाहिए कि पूरे देश में गौहत्या बंद हो और गाय को राष्ट्रीय माता घोषित करके गौहत्यारों को फांसी की सजा का प्रावधान कर देना चाहिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »