Press "Enter" to skip to content

सच्चाई आई सामने, मीडिया भी राष्ट्रविरोधी ताकतों के साथ हो गई है

9 july 2018
🚩देशभर में पांच खबरों ने सनसनी मचा दी है लेकिन मीडिया इस पर चुप्पी साध ली है इससे साफ पता चलता है कि मीडिया भी वेटिकन सिटी के निर्देश अनुसार चलता है ।
🚩पहला मामला है कि केरल के चर्च में 5 ईसाई पादरियों ने एक महिला का 380 बार बलात्कार किया ।
🚩दूसरा मामला है कि केरला की नन ने पादरी पर 3 वर्ष तक रेप करने का आरोप लगाया ।
Truth is in front of the media, the media
has also been with anti-national forces
🚩तीसरा मामला सामने आया है कि दलितों को बहला-फुसलाकर धर्मांतरण करा रही ईसाई मिशनरी उनके साथ बेहद बुरा सलूक कर रही हैं। ईसाई बन चुके दलितों के एक संगठन ने संयुक्त राष्ट्र को चिट्ठी लिखकर अपने साथ भेदभाव की शिकायत की है। उनकी ये शिकायत वेटिकन के खिलाफ भी है।
🚩चौथा मामला है धर्मपरिवर्तन का जो कि यूपी के मेरठ से जबरन धर्म परिवर्तन का मामला सामने आया है।  अतरौली के डीडीयू जीकेवाई इंस्टिट्यूट ट्रेनिंग सेंटर के संचालकों ने वहां पढ़ने वाली छात्राओं पर ईसाई धर्म अपनाने का दबाव बनाया। इस मामले में छात्राओं ने एसपी ग्रामीण को लिखित शिकायत दी है।
🚩पांचवा मामला है कि मदर टेरेसा ने जिन संस्थाओं को कथित मानवता की सेवा के लिए खडा किया था उनमें से कुछ बच्चों की खरीद-फरोख्त व धर्मातरण जैसे कार्यो में संलिप्त हो गए हैं ! रांची में ईस्ट जेल रोड स्थित मिशनरीज ऑफ चैरिटी से संचालित ‘निर्मल हृदय’ से बच्चों की बिक्री का मामला अब देशव्यापी मानव तस्करी का पर्दाफाश कर रहा है ! झारखंड ही नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश, केरल, पश्चिम बंगाल सहित कई राज्यों में बच्चों को भेजने व बेचने की बात सामने आ रही है !
🚩बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी), जिला समाज कल्याण अधिकारी (डीएसडब्ल्यूओ), पुलिस तथा अन्य अधिकारियों की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि निर्मल हृदय में रहीं पीडिताओं से जन्मे और शिशु भवन में रखे गए 280 बच्चों का कोई अता-पता नहीं है ! अब तक की जांच के दौरान जब्त किए गए कागजात के अनुसार 2015 से 2018 तक उक्त दोनों जगहों (निर्मल हृदय, शिशु भवन) में 450 गर्भवती पीडिताओं को भर्ती कराया गया । इनसे जन्मे १७० बच्चों को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया या जानकारी दी गई । शेष 280 बच्चों का कोई अता-पता नहीं है ।
🚩लोगों की मजबुरी का फायदा उठाने की र्इसार्इयों की आदत आज की नही हैं ! जिस मदर टेरेसा ने कथित मानवता की सेवा के लिए मिशनरी की स्थापना की उसकी नींव ही लोगों का धर्मांतरण करना, उनके गरीबी का फायदा उठाना यही थी । जो लोग इन मिशनरी को तथा मदर टेरेसा को महान, संत मानते है वे अब तो इस सच्चार्इ सामने आ गई है उसको समझे ।
🚩केरल में “पादरी” रेप कर रहे है “झारखण्ड” में पादरी रेप करवा रहे है ….
🚩देशभर में पादरी “धर्म परिवर्तन” करवा रहे है..
🚩धर्मपरिवर्तन करवाने के बाद भेदभाव किया जाता है ।
🚩और “मदर टेरेसा” की संस्था बच्चे बेचने का कारोबार कर रही है ..
🚩इतना सब कुछ होते हुए भी मीडिया इसपर मौन है और ऊपर से बोलती है कि ईसाई मिशनरी भारत मे सेवा करने आयी थी ।
🚩इससे साफ हो गया है कि मीडिया केवल हिन्दू धर्म को नष्ट करने में लगी है, केवल हिन्दुविरोधी अजेंडे पर चल रही है, वेटिकन के इशारे पर चल रही है इन बडी 5 खबरों में कोई भी ब्रेकिंग न्यूज नही बना और नही कहि हेडलाइन आई ।
🚩सुदर्शन न्यूज चैनल के मालिक #श्री सुरेश चव्हाणके ने बताया है कि भारत कि मीडिया को अधिकतर #फंडिग #वेटिकन सिटी जो ईसाई धर्म का बड़ा स्थान है वहाँ से आता है इसलिए #मीडिया केवल #हिन्दू धर्म के #साधु-संतों को बदनाम करती है और ईसाई पादरियों के दुष्कर्म को छुपाती है ।
🚩आपको बता दे कि पवित्र हिन्दू साधु-संतों को बदनाम करने और उनके ऊपर झूठे मुकदमे चलाने के लिए विदेशी ताकते काम कर रही है जो भारत से हिन्दू धर्म को मिटाने के लिए कार्य कर रहे है इसलिए ईसाई पादरियों के कुकर्म छुपाते है और हिन्दू धर्मगुरुओं को बदनाम करते है ।
🚩भारतवासी इन बिकाऊ मीडिया से सावधान रहें, इनकी खबरों पर आंख मीचकर भरोसा न करें, पहले सच्चाई जाने फिर ही अपने मंदिरों एवं साधु-संतों के बारे में बोले, #वेटिकन का #लक्ष्य है #भारत को #ईसाई #बनाने का ओर #मीडिया के #जरिये ये #काम कर रही है अतः #सावधान रहें ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Durga dewangan Durga dewangan July 9, 2018

    isai teji se dharm pariwartan krwa rhe hai unke kukarm bhi jahir ho rhe hai bhale hi media is par moan hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »