Press "Enter" to skip to content

बांग्लादेशियों को, भारत में बसाने के पीछे सोनिया गांधी का हाथ : विकिलीक्स

07 August 2018
🚩नेता वोटबैंक के लिए कुछ भी कर सकता है, चाहे देश की सुरक्षा खतरे में चली जाए, आतंकवादी हमले कर दें, हिन्दुओं की सम्पति पर कोई अधिकार कर ले या देश में जनसंख्या बढ़ जाए, इससे नेताओं को कोई लेना-देना नही होता है, कई नेता अच्छे भी हैं, लेकिन चूँकि भारत में भ्रष्ट नेताओं की संख्या अधिक है, जिसके कारण ईमानदार नेता भी सहीं से कार्य नही कर पाते हैं ।
🚩भारतवासी नेता भी अधिकतर देशहित के निर्यण न लेकर, वोटबैंक कैसे बढ़े इस बारे में ही सोचते हैं तो फिर विदेश से आई सोनिया गांधी तो देशहित के लिए सोच ही कैसे सकती है ?
🚩आज देश में जनसंख्या बढ़ रही है, उसकी परेशानी बढ़ रही है ऊपर से करोड़ों बांग्लादेशी अवैध रूप से भारत में बस गए हैं, जिससे भारत को और भी अधिक परेशानी उठानी पड़ रही है ।
Sonia Gandhi’s hand behind Bangladeshi settlers in India: WikiLeaks
🚩बांग्लादेशीयों को, सोनिया गांधी कैसे स्थायी बनाना चाहती थी रिपोर्ट देख लीजिए…
🚩नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन के मुद्दे पर, देश में गर्म राजनीति के बीच विकीलीक्स ने एक नया खुलासा किया है । विकीलीक्स के नए खुलासे में यू.पी.ए. चेयरपर्सन सोनिया गांधी और कांग्रेस पर निशाना साधा गया है । खुलासे में कांग्रेस पर बंगलादेशी घुसपैठियों का साथ देने का आरोप लगाया गया है ।
🚩खुलासे में कहा गया है कि 2006 में जो कानून लाया गया था, उसके तहत असम में रह रहे बंगलादेशीयों को विदेशी साबित करने की जिम्मेदारी प्रशासन की थी । जिसके बाद कांग्रेस ने 2006 में, नए कानून पेश किए थे । विकीलीक्स ने आरोप लगाया है कि मुस्लिम वोटों को अपने पक्ष में करने के लिए, तत्कालीन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपील की थी कि उनकी सरकार प्रवासियों के कानून को बदलने पर विचार कर सकती है ।
🚩विकीलीक्स के खुलासे में लिखा गया है कि कांग्रेस को डर था कि उसके हाथ से मुस्लिम वोट खिसक रहे हैं, जिसे देखते हुए यह अपील की गई थी । लिखा गया है कि मुस्लिम कांग्रेस का वोट बैंक रहा है और उनका रुख बंगलादेशी प्रवासियों के हक में रहा है । बता दें कि इसी से जुड़े कानून को 2011 में, उच्चतम न्यायालय ने असंवैधानिक करार दिया था । 
स्त्रोत : पंजाब केसरी
🚩काँग्रेस ने अपनी वोटबैंक बढ़ाने के लिए देश में करोड़ों बांग्लादेशियों को बसा दिया ।
🚩बांग्लादेशी भारत में उपद्रव करते हैं, आतंकवादी गतिविधियां पाई गई है । देश की सुरक्षा को बंगलादेशी घुसपैठियों से खतरा है । देश की सुरक्षा के मद्देनजर इन्हें शीघ्र बाहर करना होगा ।
🚩भारत में अवैध घुसपैठियों को, अल्पसंख्यक की सारी सुविधाएं दी जा रही है, दूसरी ओर बांग्लादेश में बस रहे हिंदुओ पर, भीषण अत्याचार किया जा रहा है |
🚩बांग्लादेश माइनॉरिटी वॉच के अध्यक्ष अधिवक्ता #श्री रवींद्र घोष ने कहा कि बांग्लादेश जब से स्वतंत्र हुआ है, तब से आज तक वहां 15 लाख से अधिक हिन्दुओं की हत्या की गई है । स्वतंत्रता के पश्‍चात जब से वहां के शासन ने, संविधान में इस्लाम धर्मानुसार, आचरण करने की धारा घुसाई, तब से निरंतर वहां के हिन्दुओं की, धार्मिक स्वतंत्रता के अधिकारों को नकारा जा रहा है । वहां के हिन्दुओं को किसी प्रकार का न्याय अथवा अधिकार नहीं मिलता, अपितु हिन्दुओं की भूमि बलपूर्वक दबा ली गई ।
🚩हिन्दू लड़कियों का अपहरण कर बलात्कार किए जाते हैं । हिन्दुओ के घर-दुकाने जला दी जाती है, सम्पति हड़प ली जाती है,  विद्यालय के बुद्धिमान हिन्दू विद्यार्थियों को मारा जाता है । अभी तक #बांग्लादेश में #3 सहस्र 336 मंदिर तोड़े गए हैं । ऐसे विविध प्रकार से हिन्दुओं पर #अत्याचार और अन्याय किया जाता है तथा उस प्रत्येक घटना के विरोध में #‘बांग्लादेश मायनॉरिटी वॉच’ संघर्ष कर रहा है । 
🚩अखण्ड भारत को जिहादियों ने खण्ड-खण्ड कर दिया, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश बना दिया, उसमे पहले से ही स्थायी रूप से रह रहे हिन्दुओं पर भीषण अत्याचार किया जा रहा है, वहीं दूसरी ओर भारत मे अवैध रूप में बस रहे, बंगलादेशीयों को सारी सुख-सुविधाएं दी जा रही है, यह कहाँ का न्याय है ?
🚩बंगलादेशीयों और रोहिंग्याओं को शीघ्र बाहर करना होगा, तभी देश की सुरक्षा बनी रहेगी ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
More from UncategorizedMore posts in Uncategorized »

3 Comments

  1. Ghanshyam das Godwani Ghanshyam das Godwani August 7, 2018

    1984 में जब सिखों का कत्लेआम हुआ,
    1990 में कश्मीरी पंडितो का कत्लेआम हुआ..

    तब “राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग” क्या कर रहा था??

    #NCR

    रोहिंग्या और बांग्लादेशियों को भारत से भगाओं

    #सफाईअभियान

  2. Ketan Patel Ketan Patel August 7, 2018

    Foreigners don’t have right on India’s resources

  3. Kaushal kumar Kaushal kumar August 7, 2018

    लड़की की काल डिटेल निकलवाने पर पता चला कि वह जो समय बताती है उस घटना के समय वह किसी से फोन पर बात कर रही थी। आखिर इतने अहम सुबूत को अनदेखा क्यों किया गया?
    #WhyEvidencesRebutted

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »