Press "Enter" to skip to content

गाय बचाने वाले तीन साधुओं की निर्मम हत्या, सेकुलर, मीडिया ने साधी चुप्पी

18 August 2018
http://azaadbharat.org
🚩देश में हिन्दू धर्म को छोड़कर किसी अन्य धर्म के लोगों पर हमला होता है या हत्या हो जाती है तो सेकुलर नेता, वामपंथी, मीडिया सब मिलकर इतना शोर मचाते हैं कि मानो भारत में कोई भयंकर अघटित घटना घट गई हो, मीडिया 24 घण्टे डिबेट बैठा देती है और ब्रेकिंग न्यूज़ न्यूज चलाती है, लेकिन उसकी जगह कोई हिन्दू हो तो ये सभी चुप हो जाते हैं ।
Niram murder, secular, media silent killing of three sadhus save cow
🚩आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश औरैया के जंगल में सैंकड़ों गाएँ काटी जा रही थी, वहाँ पास में ही पुलिस स्टेशन भी था, लेकिन पुलिस आँख के आड़े कान कर रहे थे ।
🚩उस गाँव मे तीन हिन्दू साधू गौतस्करी का विरोध कर रहे थे, ये गौतस्करी करने वाले जिहादियों के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायतें भी कर रहे थे, जिसके कारण गौतस्करों के निशाने पर थे ।
🚩तीनों हिन्दू साधु 14 अगस्त 2018 की रात को मंदिर में सोने के लिए अपने-अपने चारपाई पर चले गए, उसी रात को जिहादियों ने मंदिर पर हमला किया, मंदिर में तीन साधुओं के अलावा कोई नहीं था, ये तीनो ही वृद्ध थे, कई जिहादियों ने हमले को अंजाम दिया और तीनो साधुओं को उनकी चारपाई से बाँधा, हाथों और पैरों को बाँध दिया और सबसे पहले तीनो की जीभ को चाक़ू से काटा
और उसके बाद तीनो की गर्दनो को चाकुओं से काट कर तीनो को मार डाला गया, तीन वृद्ध साधुओं को मौत के घाट उतार दिया गया ।
🚩हिन्दू बाहुल्य देश में इतनी बड़ी घटना हुई है, तीन हिन्दू साधुओं की निर्मम हत्या करवा दी है फिर भी देश की मीडिया, देश के बुद्धिजीवी और नेता चुप है, क्या ये लिंचिंग में नहीं आता ?
🚩लिंचिंग, लिंचिंग, लिंचिंग, लिंचिंग, लिंचिंग, लिंचिंग करने वाले तमाम सेक्युलर, तमाम बुद्धिजीवी, तमाम मीडिया वाले, तमाम नेता इस घटना पर मौन हैं, सबके मुँह में दही जम गयी है, ये लिंचिंग-लिंचिंग तभी करते हैं, जब कोई जुनैद, अख़लाक़ इत्यादि हो, तीन वृद्ध साधुओं की निर्मम हत्या इन लोगों के लिए लिंचिंग में नहीं आती ।
🚩देश के तमाम लोगों को सोचना होगा कि हमारा देश किस तरफ जा रहा है, स्वतंत्रता दिवस पर कई मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में झंडा नहीं फहराने दिया गया, कई जगह राष्ट्रगान नहीं होने दिया गया, साधुओं को मार दिया जा रहा है, पर इस देश की मीडिया, नेता और बुद्धिजीवी, जो हिंदुओं के खिलाफ दिन रात बोलते रहते हैं, इन घटनाओं के होने पर, इनके मुँह में दही जमी हुई है ।
🚩हमे नेताओं मीडिया और बुद्धिजीवी सेकुलरों से पूछना होगा, तीन साधुओं की हत्या क्या लिंचिंग नहीं है, और लिंचिंग है तो तुम सब मौन क्यों हो ?
🚩भारत देश में गाय, गीता, गंगा और साधु ये हिन्दू धर्म के रक्षक है । आज इन सभी पर अत्याचार हो रहा है, कोई गौहत्या रोकने जाता है तो उसको बदनाम किया जाता है या गुंडा बताया जाता है, गीता का प्रचार करने वालों को ढोंगी बताया जाता है, गंगा मैया में आज भी बहुत सारी गंदगी भरी है और हिन्दू साधु-संत, समाज को अच्छी राह पर ले जाते हैं, स्वधर्म की महिमा बताते हैं, प्राचीन संस्कृति की तरफ ले जाते हैं,  जिससे हम स्वस्थ्य, सुखी, सम्मानित जीवन जीते हैं और हमें दुःखी परेशान करने वाली पश्चिम संस्कृति से दूर रहते हैं, जो विधर्मियों को भाता नहीं है तो साधु-संतों को मीडिया द्वारा बदनाम करके जेल भेज देते हैं या उनकी हत्या करवा दी जाती है ।
🚩हिंदुओं को सावधान रहना होगा क्योंकि उनका टारगेट है हिन्दू संस्कृति खत्म करके और हिंदुओं का धर्मान्तरण करवाकर खुद भारत पर राज करें ।
🚩भारत में साधुओं पर हो रहे षड्यंत्र का सभी को मिलकर मुकाबला करना होगा, नहीं तो एक के बाद एक करके साधुओं को खत्म कर दिया जाएगा ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani August 18, 2018

    हमे नेताओं मीडिया और बुद्धिजीवी सेकुलरों से पूछना होगा, तीन साधुओं की हत्या क्या लिंचिंग नहीं है, और लिंचिंग है तो तुम सब मौन क्यों हो
    हिंदुओं को सावधान रहना होगा क्योंकि उनका टारगेट है हिन्दू संस्कृति खत्म करके और हिंदुओं का धर्मान्तरण करवाकर खुद भारत पर राज करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »