Press "Enter" to skip to content

भारत में क्रिसमस डे की जगह तुलसी पूजन दिवस की मची है धूम

24 दिसंबर 2018
🚩ईसाई समुदाय 25 दिसम्बर को क्रिसमस मनाते हैं, उसकी तैयारी पूर्व से होने लगती है, 25 दिसम्बर से 1 जनवरी तक क्रिसमस-डे मनाया जाता है, जिसमें त्यौहार के नाम पर दारू पीना, मांस खाना, पार्टी में दुष्कर्म करना, महिलाओं से छेड़छाड़ी करना आदि कृत्य होते हैं, ऐसे त्यौहार को कुछ भोले भारतवासी भी मनाने लगे थे पर अब धीरे-धीरे अपनी संस्कृति की तरफ लौट रहे हैं । भारतवासियों को लग रहा है कि क्रिसमस हमारी संस्कृति व सभ्यता को नष्ट कर देगी और हमारा जीवन बर्बाद कर देगी जिसकी वजह से क्रिसमस डे से उपराम हो रहे हैं ।
India celebrates Tulsi Pujan Divas instead of Christmas Day 

 🚩पश्चिमी संस्कृति का क्रिसमस-डे मनाने जैसा त्यौहार नहीं है इसलिए भारत में ज्यादातर लोगों ने 25 दिसंबर को तुलसी पूजन दिवस के रूप में मनाने के लिए पहले से ही तुलसी पूजन शुरू कर दिया है, भारत ही नहीं बल्कि कई अन्य देशों में भी इस दिन को तुलसी पूजन दिवस के रूप में मनाया जा रहा है ।
🚩नीचे दिए गए साइट पर http://www.ashram.org/Ashram/SevaActivities आप देख सकते हैं ,देश-विदेश में 25 दिसम्बर निमित्त तुलसी पूजन की धूम मची है ।
🚩ट्वीटर पर भी सोमवार को 25 दिसंबर तुलसी पूजन दिवस के निमित्त 
#संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम हैशटैग के जरिये लगातार ट्वीट्स देखने को मिल रही हैं ।
🚩आइये जानते हैं कि क्या कहना चाह रहे हैं ये लोग ट्वीटर के माध्यम से…
🚩1. गार्गी पटेल लिखती हैं कि Sant Shri Asaram Bapu Ji ने एक विश्वव्यापी अभियान शुरू किया👉🏻  25 दिसम्बर को क्रिसमस की नहीं  तुलसी पूजन करने की दिशा में बढ़ाये कदम । #संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम।।
🚩2 . जागो हिंदुस्तानी हैंडल से ट्वीट करके बताया गया कि देश में सुख शांति स्वास्थ्य सौहार्द से जन-समाज का जीवन मंगलमय हो इस उद्देश्य से Sant Shri Asaram Bapu Ji ने 2014 से 25 दिसंबर को तुलसी पूजन शुरू करवाया। अब करोड़ों लोग मनाते हैं।
#संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम
🚩3. प्रेम चौधरी ने लिखा है कि वृंदा अभियान चला रहा है एक अभियान घर-घर लगाओ तुलसी क्योंकि तुलसी है प्रकृति का अनमोल उपहार । आओ मनाएं
 25 दिसम्बर को तुलसी पूजन दिवस । #संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम।
🚩4. महिला उत्थान मंडल के हैंडल से ट्वीट करके बताया है कि Sant Shri Asaram Bapu Ji  ने 25 दिसंबर को भारतीय संस्कृति की धरोहर तुलसी माता का पूजन करने की अनोखी पहल की थी, जिसकी शुरुआत महिला उत्थान मंडल अहमदाबाद की बहनों ने पूरे देश में कर चुकी हैं
#संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम
🚩5. दीपिका लिखती हैं कि ना तुम ईसाई, न मैं ईसाई, फिर क्यों क्रिसमस की बधाई! इस 25 दिसम्बर, आओ मनाएँ Sant Shri Asaram Bapu Ji द्वारा प्रेरित तुलसी पूजन दिवस।
#संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम
🚩इसी प्रकार से आज हजारों ट्वीटस हमें देखने को मिली । जिसमें सभी लोग क्रिसमस नहीं बल्कि तुलसी पूजन दिवस मनाने की बात कहने के साथ-साथ खुद की तुलसी पूजन करके फोटोज भी अपलोड कर रहे हैं ।
🚩केवल भारत के ही लोग नहीं , बल्कि कैलिफोर्निया, दुबई आदि से भी लोग तुलसी पूजन करके ट्वीटस कर रहे हैं ।
🚩आपको बता दें कि 25 दिसम्बर से 1 जनवरी के दौरान शराब आदि नशीले पदार्थों का जमकर सेवन होता है, जिससे आत्महत्या जैसी घटनाएँ, युवाधन की तबाही एवं अवांछनीय कृत्य खूब होते हैं इसलिए देश में सुख, सौहार्द, शांति बढ़े व जन-समाज का जीवन स्वस्थ और मंगलमय हो इस उद्देश्य से हिन्दू संत आसाराम बापू की प्रेरणा से वर्ष 2014 से 25 दिसम्बर को ‘तुलसी पूजन दिवस मनाना प्रारम्भ हुआ । इस पर्व को जनता ने भी खूब सराहा और इसकी भूरि-भूरि प्रशंसा की । इस पर्व की लोकप्रियता विश्वस्तर पर देखी गयी । 
🚩#तुलसी #पूजन से #बुद्धिबल, #मनोबल, #चारित्र्यबल व #आरोग्यबल #बढ़ता है । #मानसिक #अवसाद, #दुर्व्यसन, #आत्महत्या आदि से लोगों की #रक्षा होती है और लोगों को #भारतीय #संस्कृति के इस सूक्ष्म #ऋषि-विज्ञान का लाभ मिलता है ।
🚩विदेशों में भी होती है तुलसी पूजा-
मात्र भारत में ही नहीं वरन् विश्व के कई अन्य देशों में भी #तुलसी को #पूजनीय व शुभ माना गया है। ग्रीस में इस्टर्न चर्च नामक सम्प्रदाय में तुलसी की पूजा होती थी और सेंट बेजिल जयंती के दिन नूतन वर्ष भाग्यशाली हो इस भावना से चढ़ायी गयी तुलसी के प्रसाद को स्त्रियाँ अपने घर ले जाती थीं।
🚩तुलसी पूजन की शास्त्रों में महिमा
अनेक व्रतकथाओं, धर्मकथाओं, पुराणों में तुलसी महिमा के अनेकों आख्यान हैं ।
🚩#वैज्ञानिक भी #तुलसी को #मानते है लोहा…
डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) के वैज्ञानिकों द्वारा किये गये अनुसंधानों से यह सिद्ध हुआ है कि ‘#तुलसी में #एंटी ऑक्सीडंट गुणधर्म है और वह आण्विक विकिरणों से क्षतिग्रस्त कोशों को स्वस्थ बना देती है । कुछ रोगों एवं जहरीले द्रव्यों, विकिरणों तथा धूम्रपान के कारण जो कोशों को हानि पहुँचानेवाले रसायन शरीर में उत्पन्न होते हैं, उनको तुलसी नष्ट कर देती है ।
🚩अतः विष्णुप्रिया तुलसी हर घर में होनी चाहिए । सभी लोग संकल्प लें कि #25 दिसम्बर को #तुलसी जी की #पूजा करके उनके प्रति कृतज्ञता व्यक्त करेंगे ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
 🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
 🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
 🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
 🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
More from हिन्दू धर्मMore posts in हिन्दू धर्म »

2 Comments

  1. Ketan Patel Ketan Patel December 24, 2018

    In this era of Westernization, Youth easily fall in Drug-addiction, Disco n Sexual abuse
    In order to Safeguard them, Follow Footsteps of Culture protector Sant Asaram Bapuji
    तुलसी पूजन दिवस
    #संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम

  2. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani December 24, 2018

    Sant Shri Asaram Bapu Ji से प्रेरित महिला उत्थान मंडल की बहनें निशुल्क तुलसी पौधा व पैम्फलेट का वितरण करती हैं।
    #संस्कृति_की_ओर_बढ़ते_कदम
    https://youtu.be/qQD1LIGklFU

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »