Press "Enter" to skip to content

रिपोर्ट : झूठे केस में फंस रहे हैं लोग, हर तीसरा मुकदमा झूठा

Report: People trapped in false
 cases, every third case is false
04 August 2018
🚩अंग्रेजों का बनाया कानून आज भी देश मे चल रहा है और कहावत भी है कि कानून अंधा होता है, सच में ये साबित होता है कि कानून अंधा ही है, वर्तमान में तो एक ऐसा ट्रेंड चल पड़ा है कि बदला लेने या पैसे ऐंठने की भावना से लोग झूठे मुकदमे दर्ज करवाते हैं, सालों भर मुकदमे चलते हैं, फिर न्याय मिलता है, निर्दोष बरी होता है, लेकिन तब तक जिस व्यक्ति पर झूठा केस किया होता है, उसकी इज्जत, पैसे और परिवार की जिंदगी खराब हो जाती है ।
🚩आपको बता दें कि राजस्थान जयपुर के थानों में रोज दर्ज हो रहे मुकदमों में हर तीसरा या चौथा मुकदमा फर्जी है । ऐसे में बड़ी तादाद में, बेकसूर प्रताडऩा झेलने पर मजबूर हैं। दूसरों को फंसाने के लिए झूठे मुकदमे दर्ज कराने वाले बेखौफ हैं, क्योंकि पुलिस उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं करती है। 
🚩2017 में दर्ज 1,70,000 मुकदमों में करीब 48000 मुकदमे झूठे थे । यानी औसत रूप से हर रोज दर्ज 431 मुकदमे दर्ज हुए, जिनमें से 131 फर्जी थे।
🚩इसी तरह इस साल जून तक 87,024 में से 17,585 झूठे मुकदमे सामने आ चुके हैं । इसमें भी हर रोज का आंकड़ा 100  फर्जी मुकदमों का है । सबूत नहीं जुटा पाने, अपराधियों के नहीं पकड़े जाने और अन्य कारणों के चलते 2017 में 28,272 प्रकरणों में एफआर लगाई है । जबकि जून 2018 तक ऐसे ही 12,756 अन्य मामलों में एफआर लगाई है । मई 2018 तक अपहरण के कुल 2555 मामलों में से 1173 झूठे निकले
🚩वर्ष 2017 के आंकड़े :-
🚩केस 1: जयपुर में साजिश, बूंदी के पांच युवकों को फंसाया गया ।
🚩बूंदी के सरकारी स्कूल की शिक्षिका ने अपने प्रेमी संग, जयपुर में साजिश रच, बूंदी के 5 युवकों के खिलाफ गैंग रेप का मामला दर्ज कराया । बाद में मामला झूठा निकला । पांच निर्दोष जेल जाने से बच गए । शिक्षिका ने प्रेमी के खिलाफ मामला दर्ज कराने वालों पर दबाव बनाने के लिए झूठा मामला दर्ज कराया था ।
🚩केस 2: पहले फंसाती, फिर हाईप्रोफाइल लोगों को ठगती ।
🚩कानोता थाना पुलिस ने महिला व उसके साथी को गिरफ्तार किया । महिला हाईप्रोफाइल लोगों से परिचय बनाती फिर झूठे केस में फंसाने की धमकी दे रुपए ऐंठ लेती थी । महिला व उसके साथियों ने टैम्पो चालक के खिलाफ, शिवदासपुरा थाने में झूठा मामला दर्ज करा दिया था । बाद में रुपए ले समझौता कर लिया।
🚩केस 3: एस.ओ.जी. ने तिकड़ी का किया खुलासा |
🚩एस.ओ.जी. ने हाईप्रोफाइल दुष्कर्म केस में फंसाने की धमकी देकर, झूठे मुकदमे दर्ज कराने वाली गैंग का खुलासा कर, कई युवतियों को गिरफ्तार किया । युवतियां, कुछ परिचित वकील, पुलिसकर्मी और दलालों के जरिए रसूखदार लोगों को फंसाती और झूठे मामले दर्ज करा देती थीं । https://m.patrika.com/jaipur-news/every-third-and-fourth-case-is-false-innocent-torture-3194905/
🚩बता दें कि यह मामला केवल राजस्थान में एक शहर का है, बाकी पूरे देश का क्या हाल होगा जिसमें करोड़ो मुकदमे झूठे दर्ज कराए जाते होंगे ।
🚩इतने झूठे केस मुकदमे दर्ज कराये जाते हैं तो निर्दोष को तो न्याय ही नही मिल पाएगा ।
🚩भारत देश हाल ही में जिस तरह वर्तमान में विकट परिस्थितियों से झुंझ रहा है, उसकी सबसे बड़ी जिम्मेदार है मैकाले की बनाई हुई शिक्षा पद्धति, जिसके कारण आज व्यक्ति स्वार्थी, ईर्ष्यालु, कामचोर बन गया है, जिसके कारण क्राइम हो रहे हैं | अगर बचपन से ही वैदिक शिक्षा पद्धति से पढ़ाया जाए तो अच्छे संस्कार आएँगे, जिससे न तो कोई क्राइम करेगा ओर ना ही  किसी के प्रति ईर्ष्या, जलन या स्वार्थ के कारण झूठे केस दर्ज करेगा ।
🚩प्राचीन काल में, ऋषि-मुनियों द्वारा गुरुकुल चलाये जाते थे, उसमे सभी मेहनती, संयमी, सदाचारी और परोपकारी बनते थे, जिसके कारण देश मे सुख-शांति रहती थी और लोग स्वस्थ्, सुखी और सम्मानित जीवन जीते थे ।
🚩वर्तमान में कुछ हिंदू साधु-संतों ने ये बीड़ा उठाया था, जिसके तहत उन्होंने वैदिक गुरुकुल खोले ओर बच्चों को महान बनना शुरू किया तो राष्ट्र विरोधी ताकतों ने उनको मीडिया द्वारा बदनाम करवाकर, झुठे मुकदमें में फंसाकर जेल भिजवाया गया ।
🚩जैसे कि हिन्दू संत आसाराम बापू ने 35 वैदिक गुरुकुल खोले, जिसके कारण लाखो बच्चें होनहार होने लगे, आदिवासियों में जाकर जीवनोंपयोगी वस्तुएं दीं, जिसके कारण धर्मान्तरण रुका, गांव-गांव, नगर-नगर जाकर हिन्दू संस्कृति की महानता को लोगों तक पहुँचाया, जिसके कारण करोड़ों लोग संयमी बनने लगे, व्यसन छोड़ने लगे, विदेशी कंपनियों के प्रोडक्ट की जगह स्वदेशी अपनाने लगे, टीवी-सिनेमा देखना बन्द कर दिया, जिससे विदेशी कम्पनियों को आर्थिक तौर पर भयंकर नुकसान हुआ | कान्वेट स्कूलों में जाना बंद कर दिया, धर्मान्तरण पर रोक लग गई तो उन्हें झूठे मुदकमे में जेल भेज दिया गया ।
🚩आम जनता के अलावा राष्ट्रहित में क्रांतिकारी पहल करनेवाली सुप्रतिष्ठित हस्तियों, संतों-महापुरुषों एवं समाज के लिए आगे आने वालों  के खिलाफ, राष्ट्र एवं संस्कृति विरोधी ताकतों द्वारा कूटनीतिपूर्वक, कानूनों का, अंधाधुंध इस्तेमाल हो रहा है ।
🚩इसमे जो खामियां है, उसे दूर करना चाहिए तभी बच पाएँगे नही तो एक के बाद एक निर्दोष फंसते जाएँगे ।
 🚩Official Azaad Bharat Links:
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
More from UncategorizedMore posts in Uncategorized »

2 Comments

  1. Ketan Patel Ketan Patel August 4, 2018

    Loopholes of Indian Judiciary

  2. यशवंत पाटिल यशवंत पाटिल August 5, 2018

    भारत के संविधान में सुधार या फिर नए से उसका निर्माण होना चाहिए ताकि सभीको योग्य और समय नुसार न्याय मिल सके
    एक राष्ट्र एक कानून होना चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »