Press "Enter" to skip to content

सनातन संस्था से घबराये भ्रष्ट नेता और मीडिया, कर रहे हैं बदनाम

21 August 2018
🚩गोवा में स्थित सनातन संस्था ने अनेक भ्रष्टाचारी नेताओं, बिकाऊ मीडिया, ईसाई मिशनरियों, जिहादीयों की पोल खोल के समाज के सामने रख दी है और उनको न्यायालय में भी घसीटा है जिसके कारण इन विधर्मियों को सुई की नाई सनातन संस्था चुभ रही है उसके लिए बोखलाए हुए है ।
🚩मुंबई के नालासोपारा के गौरक्षक श्री वैभव राऊत को 10 अगस्त 2018 को  महाराष्ट्र आतंकवादविरोधी दल ने गिरफ्तार कर लिया,
उन पर आरोप लगाया गया है कि उनके पास से बम बनाने का साहित्य व विस्फोटक सामग्री मिली ।
Deaf politicians and media, afraid of Sanatan Sanstha, are notorious
🚩आतंकवादविरोधी दल भले विरोध करें पर जनता का कहना है कि जैसे साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, कर्नल पुरोहित आदि के घर पर पुलिस ने ही बम विस्फोटक सामग्री रखकर उनको गिरफ्तार किया और प्रताड़ित किया गया था उसके बाद सालों तक जेल में रहे ।
🚩ऐसा ही प्रकरण वैभव राऊत के साथ हो रहा ऐसा लग रहा है क्योंकि वे एक गौभक्त थे, कोई भी गौभक्त देश विरोधी कार्य कभी नही कर सकता है ।
🚩वैभव राऊत महाराष्ट्र में गौरक्षा कर रहे थे, वे सनातन संस्था के कई कार्यक्रमों में जाते थे लेकिन बिकाऊ मीडिया झूठ बोलकर जनता को गुमराह कर रही है कि वैभव राऊत सनातन संस्था के साधक है ।
🚩अधिवक्ता पुनाळेकर ने बताया कि श्री. वैभव राऊत गोवंश रक्षा कार्यकर्ता के रूप में काम करते हैं । महाराष्ट्र में गोवंश हत्याबंदी की विधि है; परंतु तब भी कुछ धर्मांध गोवंश की हत्या करते हैं और उसे बेचते हैं । श्री. वैभव राऊत ने सदैव इसका विरोध किया है । उसी के कारण श्री. वैभव धर्मांधों की आंखों में चूभ रहे थे । बकरी ईद की पृष्ठभूमिपर गोहत्या के लिए श्री. वैभव द्वारा विरोध न हो; इसके लिए उन्हें अपना जिला छोडकर जाने के नोटिस भी दिए गए थे । आज श्री. वैभव को जिस प्रकार से इस प्रकरण में फंसाया गया है, उसे देखते हुए इसके पीछे गोवंश की हत्या करनेवाले बीफ माफिया (गोमांस की तस्करी करनेवाले लोग) हैं ।
🚩पुनाळेकर की बात सही सिद्ध हो रही है क्योंकि मंगलवार (21/8/2018) को तेलंगाना के टाइगर राजा सिंह गौरक्षा कर रहे थे तो पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया, राजा सिंह गौमाता के परम भक्त हैं इसलिए गौरक्षा  के लिए भाजपा से इस्तीफा भी दे दिया ।
🚩भारत में आज भी हिन्दूनिष्ठ लोगों के साथ षड्यंत्र चल रहा है । वैभव राउत और टाइगर राजा सिंह ने गौरक्षा के लिए कदम उठाया तो गिरफ्तार कर लिया, लेकिन अभी तक एक भी गौतस्कर को गिरफ्तार नही किया गया ।
🚩मीडिया और भ्रष्ट नेता वैभव राउत की आड़ लेकर सनातन संस्था को बदनाम कर रहे हैं, और उसपर बेन लगाने की मांग कर रहे हैं, क्योंकि वे अच्छी तरह जानते हैं कि सनातन संस्था बन्द हो जाये तो हमे राष्ट्र विरोधी कार्य करेंगे तो कोई बोलेगा नही ओर हम आराम से जिंदगी जिएंगे ।
🚩भ्रष्टाचारी नेताओं, सेक्युलर, वामपंथी और मीडिया को ये पता नही है कि सनातन संस्था की जड़ पूरे देश मे फैली है अगर थोड़ी भी आंच आई तो करोड़ों हिन्दूओं का आक्रोश झेलना पड़ेगा, सनातन संस्था बंद करने से पहले शायद आपकी दुकान बंद न हो जाए इसका ध्यान रखना ।
🚩हिन्दुओं को भी जागना होगा जो भी हिंदुत्व के लिए कार्य करता है उसे टारगेट किया जा रहा है । एक के बाद एक हिंदुनिष्ठ को खत्म करने का प्लान करने का प्लान किया जा रहा है ।
🚩वर्तमान में भले हिंदूवादी कहलाने वाली सरकार हो, लेकिन इस सरकार ने अभी तक कोई हिंदुत्व का कार्य किया ऐसा दिखाई नही दे रहा है, लेकिन हाँ ये जरूर है कि जो हिंदुत्व का कार्य कर रहे है उनको झूठे केस बनाकर जेल भेजा जा रहा है इससे सिद्ध होता है कि आज भी षड्यंत्र चल रहे हैं ।
🚩इलेक्ट्रॉनिक मीडिया चैनल ज़ी न्यूज़ जो अपने को हिंदूवादी बताती है, वही पोल कर रही है कि क्या सनातन संस्था को बंद कर दी जाए ? इससे सिद्ध होता है कि ये लोग केवल हिंदुत्व का मुखटा पहनकर हिन्दुओ को लूट रहे है हिंदूवादी चैनल एकमात्र सुदर्शन न्यूज़ ।
🚩हिन्दू आप सावधान रहें, ऊपर हिंदूवादी दिखने वाले और षड्यंत्र करने वालो से तभी हिन्दू संस्कृति बचेगी ।
 🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani August 21, 2018

    इलेक्ट्रॉनिक मीडिया चैनल ज़ी न्यूज़ जो अपने को हिंदूवादी बताती है, वही पोल कर रही है कि क्या सनातन संस्था को बंद कर दी जाए ? इससे सिद्ध होता है कि ये लोग केवल हिंदुत्व का मुखटा पहनकर हिन्दुओ को लूट रहे है हिंदूवादी चैनल एकमात्र सुदर्शन न्यूज़ ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »