Press "Enter" to skip to content

भारत की कुटुंबव्यवस्था को संपूर्णरूप से उखाड़ने का षड्यंत्र – सद्गुरु राजेंद्र शिंदे

25 October 2018
🚩सनातन आश्रम, देवद, पनवेल के सद्गुुरु श्री राजेंद्र शिंदे ने हिन्दू धर्म पर लगातार हो रहे कुठाराघात की ओर इशारा करते हुए हिन्दुओं को जागरूक होकर उसका डंटकर विरोध करने कहा है ।
🚩सद्गुुरु श्री राजेंद्र शिंदे जी ने कहा कि विवाहबाह्य संबंधों को कानूनन योग्य प्रमाणित करनेवाला हाल ही में आया सुप्रीम कोर्ट का निर्णय हिन्दुआें की कुटंबव्यवस्था एवं धर्म पर हुआ अब तक का सबसे भयानक आक्रमण है । यदि हिन्दू इस विषय पर गंभीरता से विचार करेंगे तथा आज विदेशों में क्या चल रहा है इसकी ओर रुख करेंगे तो उन्हें यह समझ आ जाएगा कि  इन कानूनों के द्वारा हमारी आने वाली पीढ़ी पर पड़ने वाले प्रभाव कितने भीषण  होंगे । विदेशों में विवाहबाह्य संबंधों के कारण पति-पत्नी के संबंधों की पवित्रता नष्ट हो चुकी है आैर वहां विवाह मात्र वासना का खेल बनकर रह गया है ।
Conspiracy to overthrow India’s family system – Sadguru Rajendra Shinde

🚩हिन्दू धर्मव्यवस्था मनुष्य को संयमित जीवन जीना सिखाती है जिससे कि उस व्यक्ति, परिवार, समाज आैर राष्ट्र, इन सभी को लाभ होता है; परंतु एेसे निर्णयों की वजह से पूरी यंत्रणा ही ध्वस्त हो जाएगी । आज विदेशों में विवाहबाह्य संबंधों के माध्यम से जन्मे बच्चों का प्रबंध अनाथालयों में करना पड़ रहा है । एेसे बच्चे सदैव असंतुष्ट आैर अस्थिर रहते हैं । न ही उन्हें कभी माता-पिता का प्रेम  मिलता है आैर न ही पारिवारिक संबंधों की मधुरता का अनुभव ही हो पाता है । इससे वहां की कुटुंबव्यवस्था तो संपूर्णतया ध्वस्त हो चुकी है आैर भारत में भी एेसी ही स्थिति बनाने के इस षड्यंत्र का हम सबको डंटकर सामना करना ही होगा ।
🚩इसके लिए हर व्यक्ति को अपने-अपने स्तर पर लोगों जागरुकता लानी चाहिए, जिनका समाज में प्रभाव है, एेसे लोगों को समाज में जाकर लोगों का उद्बोधन करना चाहिए । कीर्तनकार, प्रवचनकार आदि मान्यवरों को धर्म पर आघात करनेवाले इस निर्णय के विरोध में लोकजागृति करनी चाहिए। सामान्य लोगों को भी शांति से न बैठते हुए समाचारपत्रों अथवा प्रशासन को न्यूनतम इस निर्णय के विरोध में पत्र भेजनें चाहिए ।
🚩हिन्दुआें को सक्रिय होकर चैतन्य का स्रोत रहे मंदिरों का सरकारीकरण, सबरीमला मंदिर में सभी आयुवर्ग की महिलाआें को प्रवेश देना और ऐसे ही अन्य धर्मविरोधी निर्णयों का विरोध करना चाहिए ।
🚩धर्मसिद्धांत के अनुसार धर्म के विरोध में कोई अप्रिय घटना हो रही हो तो ऐसे समय पर उसे अनदेखा करने का अर्थ है, उस कृत्य का मौन साक्षी होना , यह पाप है ! आनेवाले समय में हिन्दुआें को इन पापों का दंड भुगतना ही पड़ेगा  ।
अतः हिन्दुओं, धर्म पर आघात करनेवाले ऐसे निर्णयों के विरोध में आज ही सक्रिय बनों ।
स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात
🚩जब सृष्टि का उदगम हुआ तब पूरी दुनिया मे केवल एक ही धर्म था वो था सनातन धर्म, लेकिन दुनिया में राक्षसी प्रवृत्ति के लोग भी पैदा हुए वे सनातन धर्म पर कुठाराघात करते रहे, धीरे-धीरे समाज बंटता रहा, मत, पंथ सम्प्रदाय बनते रहे और अपनी-अपनी मानसिकता के अनुसार उस मत-पंथ में लोग जुड़ते रहे जिससे सनातन (हिन्दू) धर्म सिकुड़ता गया और आज केवल भारत में ही हिन्दू बहुसंख्यक बचे हैं ।
🚩भारत में भले ही हिन्दू बहुसंख्यक हो लेकिन इन हिंदुओ को तोड़ने की बहुत बड़ी साज़िशें चल रही हैं, कुछ लोग जात-पात के नाम पर बंटवारा करवा रहे हैं, ईसाई मिशनरियां धर्मान्तरण करवा रही हैं, जिहादी लव जिहाद चला रहे हैं, हिन्दू त्यौहारों का विरोध किया जाता है, मीडिया हिंदुत्व विरोधी अभियान चलाती है, न्यायालयों से भी अधिकतर फैसले हिंदू विरोधी ही सुनने को मिलते हैं, सरकार भी मूकदर्शक बनी हुई है और इन सबके खिलाफ कोई हिंदुनिष्ठ या साधु-संत खड़ा होता है तो उसकी हत्या करवा दी जाती है या मीडिया में बदनाम करके झूठे केस फंसाकर जेल भिजवाया जाता है तो इस तरह से चारों ओर से हिन्दुओं पर आक्रमण हो रहा है और हिन्दू सेक्युलर बन रहा है इससे काफी नुकसान होगा ।
🚩हिंदुओ को अब जात-पात की जंजीरों को तोड़कर एक हो जाना चाहिए और जो षडयंत्र चल रहे हैं उनका एकजुट होकर डटकर विरोध करना चाहिए, ताकि हम हमारी संस्कृति को बचा सकें अन्यथा आने वाली पीढ़ी या तो  हम पर ऊपर थूकेंगी या हम उसे अपनी अनमोल संस्कृति की भेंट नहीं दे पाएंगे, यदि आप भी चाहते हैं कि ऐसा न हो तो आइए एकहोकर इन षडयंत्रों का विरोध करें ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani October 25, 2018

    हिंदुओ को अब जात-पात की जंजीरों को तोड़कर एक हो जाना चाहिए और जो षडयंत्र चल रहे हैं उनका एकजुट होकर डटकर विरोध करना चाहिए, ताकि हम हमारी संस्कृति को बचा सकें अन्यथा आने वाली पीढ़ी या तो हम पर ऊपर थूकेंगी या हम उसे अपनी अनमोल संस्कृति की भेंट नहीं दे पाएंगे, यदि आप भी चाहते हैं कि ऐसा न हो तो आइए एकहोकर इन षडयंत्रों का विरोध करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »