Press "Enter" to skip to content

चीन ने 4000 पॉर्न और अन्य ‘हानिकारक’ वेबसाइट कर दी बंद.

26 September 2018
http://azaadbharat.org
🚩दुनिया में आज लोगों का जितना फिल्मों ने नुकसान किया है उतना शायद अंग्रेजों व मुगलों ने भी नहीं किया होगा । आज हर फिल्म में गंदे सीन दिखाए जाते हैं, जिससे आज के युवक-युवतियों का तेजी से पतन होते जा रहा है । आज के युग में मनुष्य के लिए न शुद्ध खाना बचा है, न ही शुद्ध हवा बची है जिससे हर मनुष्य का स्वास्थ्य बिगड़ता जा रहा है, ऊपर से ऐसी फिल्में देखकर युवक तेजी से वीर्यनाश कर रहा है जिसके कारण और ज्यादा निर्बल, निस्तेज होते जा रहा है ।
China closed 4000 porn and other ‘harmful’ websites.
🚩पहले तो फिल्मों, सीरियलों व विज्ञापनों में गंदे सीन के कारण युवकों का पतन हो रहा था, ऊपर से आज नेट का युग आ गया जिससे पोर्न (ब्ल्यू) फ़िल्म देखने लगे, तो अब तो भगवान ही रक्षा करें, इन फिल्मों द्वारा बच्चे, युवक-युवतियों की विदेशों में भयंकर तबाही हो रही है जिसके कारण ऐसी वेबसाइटों को ब्लॉक किया जा रहा है और संयम की शिक्षा दी जा रही है ।
🚩आपको बता दें कि चीन ने बीते तीन महीने में 4000 पॉर्न और दूसरी कथित हानिकारक सूचनाओंवाली वेबसाइट बंद कर दी हैं । यह सफाई अभियान संयुक्त रूप से नेशनल ऑफिस अगेंस्ट स्टेट पॉर्नोग्राफिक ऐंड इललीगल पब्लिकेशंस और स्टेट ऐडमिनिस्ट्रेशन ऑफ प्रेस ऐंड पब्लिकेशनद्वारा मई में शुरू किया गया था ।
🚩समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने एक अधिकारी के बयान के हवाले से कहा कि अगस्त के अंत में, अधिकारियों ने पूरे देश में 120 संबंधित उल्लंघनों का संशोधन किया और 230 उद्योगों को अनियमितताओं को हटाने या हानिकारक सूचनाओं के 1,47,000 से ज्यादा टुकड़ों को हटाने के आदेश दिए ।
🚩अभियान के अनुसार ऑनलाइन उपन्यास सामग्री पर भी निशाना साधा गया, जो अनुचित मूल्यों, अश्लीलता और कॉपीराइट उल्लंघन से जुड़े हुए थे । बयान के अनुसार, भविष्य में साफ सुथरे ऑनलाइन साहित्य का माहौल बेहतर बनाने के लिए ऐसे उपायों में तेजी लाई जाएगी । स्त्रोत : नवभारत टाईम्स
रूस ने भी कई पॉर्न वेबसाइट पर प्रतिबंध लगा दिया है ।
🚩नेपाल भी पोर्न वेबसाइट पर प्रतिबंध लगाएगी ।
भारत सरकार ऐसा कदम क्यों नहीं उठाती ?
🚩भारत में बच्चों और युवाओं द्वारा पोर्न देखने का चलन आजकल बढ़ता चला जा रहा है, जिस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत पिछले दो-तीन सालों में सबसे ज्यादा पोर्न देखने वाले देशों में दसवें से तीसरे स्थान पर आ गया है ।
🚩पोर्न देखने के होता है भयंकर नुकसान
🚩1. दिमाग का सिकुड़ना
एक रिसर्च में पाया गया है कि जो व्यक्ति पोर्न फिल्में देखते हैं, उनका दिमाग सिकुड़ जाता है ।  उनकी सोचने समझने की शक्ति धीरे-धीरे क्षीण हो जाती है । और लोगों का जीवन नरक बन जाता है ।
🚩2. असंतुष्टि
पोर्न फिल्में देखने वाला व्यक्ति को कभी संतुष्टि नही मिल पाती । व्यक्ति के स्वभाव में क्रुरता और उग्रता आ जाती है और वह चिड़चिड़ा हो जाता है ।
🚩3. वैवाहिक जीवन पर बुरा असर
लगातार पोर्न देखने के कारण व्यक्ति को अपने पार्टनर के प्रति अलगाव पैदा होने लगता है ।
🚩4. वहशीपन
पोर्न देखने से सेक्स को लोकर विकृत नज़रिया बन जाता है, जो समाज में रेप जैसी घटनाओं में बढ़ोतरी के लिए जिम्मेवार बनता है ।
🚩5. ऑक्सीटोसिन हार्मोन में कमी
ऑक्सीटोसिन दिमाग में पाया जाने वाला एक शक्तिशाली हार्मोन है जिसे ‘लव हार्मोन‘ भी कहा जाता है । यह हार्मोन पुरूष और महिलाओं दोनो को बंधन में बांधने में मदद करता है ।
लेकिन पोर्न फिल्में दिखने से यह गायब हो जाता है ।
🚩6. कामोत्तेजना पर बुरा असर पड़ता है
कुछ लोग उत्तेजित होने के लिए पोर्न का सहारा लेने लगते हैं और धीरे -धीरे यह उनकी आदत बन जाती है । इसका नुकसान यह होता है कि व्यक्ति प्राकृतिक तोर पर उत्तेजित होने में नाकाम होने लगता है जिसका नुकसान आगे चलकर होता है ।
🚩7. अवैध संबंधो को बढ़ावा
अवैध संबंधो के लिए पोर्न काफी हद तक जिम्मेदार होता है । ज्यादा पोर्न देखने वाले लोग अक्सर किसी के साथ अवैध संबंध बनाने के बारे में सोचते रहते हैं, जो समाज के लिए काफी नुकसानदेह साबित हो रहा है और कई बार मर्यादा तार-तार होने की भी अशंका रहती है । यह पोर्न देखने का सबसे बड़ा नुकसान है ।
🚩8. एक शोध में यह भी पाया गया है कि जो रोजाना पोर्न देखते हैं उनमें शारीरिक व मानसिक दुर्बलता आ जाती है ।
🚩बच्चों व युवक-युवतियों को ऐसे फिल्मों से दूर ही रहना चाहिए तभी अपना शारिरिक व मानसिक विकास हो पाएगा, नहीं तो आपका जीवन शक्तिहीन, ओजहीन और उत्साहशून्य बन जाएगा और शारिरिक व मानसिक तौर पर बीमार होते जाओगे ।
🚩ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए  :-
विद्यार्थी काल शारीरिक, मानसिक एवं भावनात्मक विकास का समय है और इस विकास का मुख्य आधार है वीर्यरक्षा । विद्यार्थीयों को अपने अध्ययन और प्रवृत्ति  लिए उत्साह, बुद्धिशक्ति, स्मृतिशक्ति, एकाग्रता, संकल्पबल आदि गुणों के विकास की बहुत आवश्यकता होती है । इन सबमें वीर्यरक्षा द्वारा बहुत प्रगति प्राप्त की जा सकती है । इसके विपरीत वीर्यनाश से तन और मन को बहुत नुकसान होता है । वीर्यनाश से निर्बलता, रोग, आलस्य, चंचलता, निराशा और पलायनवादिता के दुर्गुण आ धमकते हैं । इस दुष्प्रवृत्ति के शिकार विद्यार्थी, अपने विकासकाल के अति महत्त्वपूर्ण समय को गँवा बैठते हैं ।
🚩डॉ. निकोलस कहते हैं- “वीर्य को पानी की तरह बहाने वाले आजकल के अविवेकी युवाओं के शरीर को भयंकर रोग इस प्रकार घेर लेते हैं कि डॉक्टर की शरण में जाने पर भी उनका उद्धार नहीं होता । अंत में बड़ी कठिन विपत्तियों का सामना करने के बाद असमय ही उन अभागों का महाविनाश हो जाता है ।”
🚩वीर्यवान बनो
पालो ब्रह्मचर्य विषय-वासनाएँ त्याग।
ईश्वर के भक्त बनो जीवन जो प्यारा है।।
उठिए प्रभात काल रहिये प्रसन्नचित्त।
तजो शोक चिन्ताएँ जो दुःख का पिटारा है।।
कीजिए व्यायाम नित्य भ्रात! शक्ति अनुसार।
नहीं इन नियमों पै किसी का एकाधिकार है।।
देखिये सौ शरद औ’कीजिए सुकर्म प्रिय! सदा स्वस्थ रहना ही कर्त्तव्य तुम्हारा है।।
लाँघ गया पवनसुत ब्रह्मचर्य से ही सिंधु।
मेघनाद मार कीर्ति लखन कमायी है।।
लंका बीच अंगद ने जाँघ जब रोप दई।
हटा नहीं सका जिसे कोई बलदायी है।।
पाला व्रत ब्रह्मचर्य राममूर्ति, गामा ने भी।
देश और विदेशों में प्रसिद्धि पायी है।।
भारत के वीरो! तुम ऐसे वीर्यवान बनो।
ब्रह्मचर्य महिमा तो वेदन में गायी है।।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

2 Comments

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani September 30, 2018

    भारत सरकार ऐसा कदम क्यों नहीं उठाती ?
    भारत में बच्चों और युवाओं द्वारा पोर्न देखने का चलन आजकल बढ़ता चला जा रहा है, जिस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भारत पिछले दो-तीन सालों में सबसे ज्यादा पोर्न देखने वाले देशों में दसवें से तीसरे स्थान पर आ गया है ।

  2. Surender kumar Surender kumar September 30, 2018

    बिल्कुल सत्य कहा।

    ये पोर्न वेबसाइट युवाओं को बिगाड़ रही है। भारत मे भी ये वेबसाइट तत्काल प्रभाव से बन्द हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »