Press "Enter" to skip to content

फिर से एक पादरी पर यौन उत्पीड़न का आरोप, बलात्कारी पादरियों को जेल कब?

16 july 2018 

🚩ईसाई पादरी धर्मगुरु बनकर बैठे हैं और बच्चों के साथ दुष्कर्म करते हैं जब #अदालत उन पर जुर्म लगाती है तब बयान देते हैं कि बच्चों का यौन शोषण करने कि धार्मिक स्वतंत्रता है ऐसे ईसाई के धर्मगुरु लोगों का क्या भला करेंगे? जो खुद यौन शोषण करते है उनसे क्या उम्मीद रखी जा सकती है ?
Again a pastor accused of sexual harassment,
when raped clerics were jailed?
🚩केरल में मलंकारा ऑर्थोडॉक्स चर्च एक बार फिर सेक्स स्कैंडल को लेकर विवादों में है।
🚩शुक्रवार को एक व्यक्ति ने चर्च अधिकारियों से मिलकर शिकायत दर्ज कराई है कि पादरी ओ एम सैमुअल ने उसकी पत्नी के साथ अनैतिक संबंध बनाता है । शिकायत के बाद आरोपी पादरी ओ एम सैमुअल को निलंबित कर दिया गया है।
🚩व्यक्ति ने चर्च अधिकारियों से उस वक्त संपर्क किया जब दसवीं में पढने वाले उनके बेटे ने बताया कि मां जब घर में अकेली होती हैं तो फादर सैमुअल वहां आते हैं। चर्च सूत्रों का कहना है कि अगर जरूरत पड़ी तो शिकायत की जांच के लिए मामला पुलिस को सौंप दिया जाएगा।
🚩रेप केस में पादरी का आत्मसमर्पण
🚩इससे पहले गुरुवार को कोल्लम में स्थानीय चर्च के पादरी जॉब मैथ्यू को पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण के थोडी देर बाद गिरफ्तार किया गया था। मैथ्यू समेत चार पादरियों पर एक महिला का यौन शौषण करने का आरोप है।
🚩अधिकारियों ने बताया कि मलंकारा ऑर्थोडॉक्स सीरियन चर्च से संबंधित पादरी को अपराध शाखा के अधिकारियों ने पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस मामले में दो अन्य आरोपी पादरियों को पकड़ने की कोशिश की जा रही है।
🚩इस मामले के दूसरे आरोपी मैथ्यू ने मेडिकल परीक्षण के वक्त पुलिस वाहन के अंदर अपना मुंह छिपा रखा था। केरल हाई कोर्ट ने बुधवार को मैथ्यू के साथ तीनों पादरियों की अग्रिम जमानत याचिकाओं को खारिज कर दिया था। इसके बाद गुरुवार को फादर मैथ्यू ने सरेंडर किया था। स्त्रोत : नवभारत टाइम्स
🚩कैथलिक चर्च कि दया, शांति और कल्याण कि असलियत दुनिया के सामने उजागर हो ही गयी है । मानवता और कल्याण के नाम पर क्रूरता कि पोल खुल चुकी है । चर्च  कुकर्मो कि  पाठशाला व सेक्स स्कैंडल का अड्डा बन गया है । लेकिन फिर भी महान हिन्दूधर्म के मंदिरो एवं हिन्दू धर्मगुरुओं को ही मीडिया और सेक्युलर बदनाम करते है ।
🚩आपको बता दें कि अभी हाल ही में #आस्ट्रेलिया की कैथोलिक चर्च ने #सेक्सुअल अब्यूज (बच्चों का यौन शोषण) के मामले में करीब 21 करोड़ 20 लाख 90 हजार अमेरिकी डॉलर (1426 करोड़ रुपए) का हर्जाना दिया है।
🚩कन्नूर (केरल) के कैथोलिक चर्च की एक  नन सिस्टर मैरी चांडी  ने #पादरियों और #ननों का #चर्च और उनके शिक्षण संस्थानों में व्याप्त व्यभिचार का जिक्र अपनी आत्मकथा ‘ननमा निरंजवले स्वस्ति’ में किया है कि ‘चर्च के भीतर की जिन्दगी आध्यात्मिकता के बजाय #वासना से भरी थी ।
🚩धार्मिकता के नाम पर छोटे-छोटे बच्चों के साथ बलात्कार करना, दारू पीना, #मांस खाना, धर्म का पैसा शेयर बाजार में लगाना, लोगों का शोषण करना, कानून का पालन नही करना, समाज उत्थान कार्य नही करना ऐसे लोग भारत में भोले भाले #हिन्दुओं का #धर्मांतरण करवाते हैं और बोलते हैं कि ईसाई धर्म सबसे बड़ा धर्म है क्या यही बड़ा धर्म है???
🚩जो #मीडिया हिन्दू धर्म के पवित्र #साधु-संतों को बदनाम करता रहता है वो ईसाई पादरी के कुकर्म पर इसलिए चुप है कि उसको #वेटिकन सिटी से फंडिंग होता है ।
🚩धर्म विहीन पैसों के लालची, #कुकर्मी, #मांस भक्षी पादरियों से हिंदुस्तान सावधान रहें ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
More from UncategorizedMore posts in Uncategorized »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »