Press "Enter" to skip to content

3 लाख रुपये का लालच देकर हिंदुओं को बना रहे थे ईसाई, हुई गिरफ्तारी

 27 नवम्बर 2018
🚩कैथोलिक चर्च तथा उसके मिशनरी लगातार एशिया विशेषकर भारत में ईसाईयत फैलाने तथा धर्म-परिवर्तन करने का प्रयास करते रहे हैं । पोप जॉन पॉल ने तो अपने लोगों से कहा था कि ‘‘एशिया में जाओ और इस महाद्वीप को जीसस (ईसा) के लिए जीतकर लाओ ।’’ मदर टेरेसा ने एक इंटरव्यू में माना था कि ‘‘मैं समाज-सेविका नहीं हूँ, मैं जीसस की सेवा में हूँ और मेरा काम ईसाईयत को दुनिया में बढ़ाना और दुनिया को इसके घेरे में लाना है ।’’
🚩भारत में ईसाई मिशनरियों का एक ही मिशन है पूरे देश से हिन्दू धर्म मिटाकर इसाई धर्म फैलाकर 
भारत को ईसाई राष्ट्र घोषित करने का, इससे उन्हें ये फायदा होगा कि जब इतने बड़े देश में ईसाई धर्म फैल जाएगा तो खुद की सरकार खड़ी कर सकेंगे और आसानी से देश को लूट सकेंगे, दूसरा फायदा ये होगा कि विदेशी कंपनियां अपने प्रोडक्ट खुलेआम बेच सकेंगी तथा मूल निवासी भारतीयों का अपने पास कोई अधिकार नही रह जाएगा ।
Hindus were making greed for 3 lakh rupees, Christian arrested

🚩गुजरात के बारडोली शहर में ईसाई धर्म के प्रचारक पुरूष व महिलाएं जाकर अपने धर्म का प्रचार कर रहे थे और भोले-भाले हिन्दुओ को 3 लाख की लालच देकर ईसाई धर्म मे आने को बोल रहे थे, उसी समय कुछ जागरूक लोगों ने हिन्दू सगठनों को बता दिया और ईसाई धर्म के प्रचारकों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया, पुलिस ने केस दर्ज कर दिया है आगे की कार्यवाही उन पर की जाएगी ।
🚩अब बड़ा सवाल यहाँ ये उठता है कि भारत में
धर्मपरिवर्तन कराना कानून के खिलाफ है फिर भी खुल्लेआम ईसाई मिशनरियां धर्मपरिवर्तन करवा रही हैं लेकिन अभीतक उनपर कोई भी कड़ी कार्यवाही नहीं की जा रही है । यहाँ तक की मीडिया में भी इसकी कोई चर्चा नही दिखती है, कहीं कोने में छोटी से न्यूज आ गई तो आ गई नहीं  तो कुछ पता ही नहीं चलता है ।
🚩बता दें कि कुछ समय पहले सामना अखबार में खबर आई थी कि मुंबई में लाखों सिंधियों को ईसाई बना दिया गया है और राजस्थान में अभी हाल ही में 3 लाख हिन्दुओं को जबरन ईसाई बना दिया गया ।
🚩बता दें कि इस धर्मपरिवर्तन के आड़े कोई भी हिंदुनिष्ठ या साधू-संत आते हैं तो या तो उनकी हत्या करवा दी जाती है या झूठे केस बनाकर मीडिया में बदनाम करवाकर जेल भिजवाया जाता है जैसे उड़ीसा के स्वामी लक्ष्मणानंद जी की हत्या करवा दी और हिन्दू संत आसाराम बापू को जेल भिजवा दिया ।
🚩भारत सरकार मिशनरियों पर कोई ठोस कार्यवाही करते दिखाई नहीं दे रही है, जबकि चीन सरकार ने राजधानी बीजिंग सहित तमाम बड़े मौजूद गिरिजाघरों और चर्चों को बंद कराने, ढहाने का आदेश दे दिया है । स्थिति ये हो गयी है कि हेनान प्रांत में रोमन कैथोलिकों समुदाय के पास प्रार्थना करने के लिए कोई जगह नहीं बची है ।
🚩इसका उदाहरण मध्य चीन के कैथोलिक चर्च के बाहर लगे एक सरकारी साइन बोर्ड में देखा जा सकता है । जिसमें बच्चों को प्रार्थना में नहीं शामिल होने की चेतावनी दी गई है । साथ ही चीन में बड़े पैमाने पर “अवैध” चर्च गिराए जा रहे हैं । चीन सरकार ने चर्च के शीर्ष पर से क्रॉस हटाने का आदेश दिया है । इसके अलावा सरकार ने चर्च से मुद्रित धार्मिक सामग्रियों और पवित्र चीजों को जब्त कर लिया गया है, और चर्च द्वारा चलाए जाने वाले केजी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त सार्वजनिक स्थानों से धार्मिक प्रतिमाओं को हटाने को भी कहा गया है । 
🚩जब चीन की सरकार इतनी सख्त कार्यवाही कर सकती है तो भारत सरकार क्यों नहीं कर पा रही है ?
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani November 27, 2018

    गुजरात के बारडोली शहर में ईसाई धर्म के प्रचारक पुरूष व महिलाएं जाकर अपने धर्म का प्रचार कर रहे थेऔर भोले-भाले हिन्दुओ को3 लाख की लालच देकर ईसाईधर्म मेआने को बोल रहे थे,उसी समय कुछ जागरूक लोगों ने हिन्दू सगठनों को बता दियाऔर ईसाई धर्म के प्रचारकों को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया, https://t.co/LHyfU26ZQg

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »