Press "Enter" to skip to content

14 फरवरी का बदल गया पर्व, अब वैलेंटाइन डे नहीं मातृ-पितृ पूजन मनाना है

8 जनवरी  2019

🚩भारत में वैलेंटाइन डे की गंदगी अपने व्यापार का स्तर बढ़ाने के लिए अंतरराष्ट्रीय कम्पनियां लेकर आई हैं और वो ही कम्पनियां  मीडिया में पैसा देकर वैलेंटाइन डे का खूब प्रचार प्रसार करवाती हैं । जिसके कारण उनका व्यापार लाखों नहीं, करोड़ों नहीं, अरबों नहीं लेकिन खरबों में हो जाता है, इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया जनवरी से ही वैलेंटाइन डे यानि पश्चिमी संस्कृति का प्रचार करने लगता है, जिसके कारण विदेशी कम्पनियों के गिफ्ट, कंडोम, नशीले पदार्थ आदि 10 गुना बिकते हैं और उन्हें खरबों रुपये का फायदा होता है ।
🚩वैलेंटाइन डे से युवाओं का अत्यधिक पतन हो रहा है इसलिए अब तो ऐसा समय आ गया है कि वैलेंटाइन डे किसी को याद भी नहीं आ रहा होगा और लोगों ने अभी से 14 फरवरी के दिन मातृ-पितृ पूजन दिवस निमित्त मातृ-पितृ पूजन कार्यक्रम और सोशल मीडिया पर कैम्पियन शुरू कर दिया गया है ।
🚩आज सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे ही ट्वीट किए जा रहे थे, जो आपको जानना बेहद जरूरी है…
🚩ब्रज मोहन ने लिखा है कि सब धर्मों में माता पिता का आदर करना चाहिए यही सिखाया जाता है।’मातृ-पितृ पूजन दिवस’ यह पर्व सिर्फ हिन्दुओं के लिए नहीं बल्कि पूरे विश्व के लिए वरदान स्वरूप है आओ मनाएं ‘मातृ-पितृ पूजन दिवस’ 14 फरवरी को
#विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व
🚩गार्गी पटेल लिखती हैं कि युवक 14 फरवरी को फूल लेकर अपनी प्रेयसी के पास जाता है तो अपने माता-पिता का अपमान करता है। 14 फरवरी को फूल ले के नहीं दिल लेकर, पूजा की सामग्री ले के माँ के चरणों में, पिता के चरणों में आओ जिससे तुम्हारा नजरिया शुद्ध हो जाय:-Sant Shri Asaram Bapu Ji
#विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व
🚩गाज़ियाबाद आश्रम द्वारा ट्वीट करके लिखा गया कि #संस्कृति_रक्षक_संत द्वारा शुरू किया गया #MPPD है देश की एक नई सोच, एक नई पहल व #विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व !!
परम पूज्य संत श्री #आशाराम #बापूजी की कृपा से #गाजियाबाद के बीएम कंपाउंड निकट घंटाघर में #मातृ_पितृ_पूजन_दिवस का कार्यक्रम संपन्न हुआ…! https://t.co/iqBAsZA4i6
🚩निशांत कुमार ने लिखा है कि 
गर्व है माताओं-पिताओं के दिलों में..
प्रसन्नता है बच्चे-बच्चियों के मनों में..
ख़ुशी है पड़ोसियों के चेहरों पे..
एक नया अहसास है समाज व देश में..
मातृ-पितृ पूजन दिवस के मनाने से !!
Sant Shri Asaram Bapu Ji द्वारा प्रेरित #विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व !
🚩अजय कुमार शुक्ला ने लिखा कि भारत को विश्वगुरु की ओर अग्रसर करने के लिए वैलेंटाइन्स जैसे पाश्यात्य विदेशी गन्दगी को हटाकर,
मातृ पितृ पूजन दिवस प्रारंभ किया Sant Shri Asaram Bapu Ji ने
#विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व
🚩दिल्ली Yss के द्वारा ट्वीट द्वारा बताया गया कि वैलेंटाइन डे मनाकर कई युवक-युवतियाँ लड़े-झगड़े, कई घर छोड़ के भागे, किसीने आत्महत्या की तो लाखों-लाखों परिवार तबाह हो रहे थे।उनकी तबाही और लाखों-करोड़ों माता-पिताओं का बुढ़ापा नारकीय हो रहा है  इसलिए Asaram Bapu Ji ने शुरू किया ‘मातृ-पितृ पूजन दिवस’।#विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व https://t.co/kZxp5ExS9Y
🚩शिला लिखती हैं कि पाश्चात्य संस्कृति का अनुकरण करके भारत के युवान-युवतियाँ शादी से पहले प्रेमदिवस के बहाने अपने ओज-तेज-वीर्य का नाश करके सर्वनाश न करें इसलिये Sant Asaram Bapu Ji ने #विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व मातृ-पितृ पूजन शुरू करवाया जिसके कारण यौवन-धन, स्वास्थ्य और बुद्धि की सुरक्षा बनी रहे ।
🚩देवांग ने लिखा है कि इस धरती पर यदि कोई परमात्मा का रुप हैं तो वो माता-पिता और गुरु हैं।  माता -पिता की कदर करो और 14 फरवरी को मातृ पितृ पूजन दिवस मनाओ।#विश्व_पटल_पर_उभरता_अनोखा_पर्व  https://t.co/ikyGotcIRq
🚩इस प्रकार हजारों ट्वीट करके बताया जा रहा रहा था कि 14 फरवरी को कोई भी वैलेंटाईन डे न मनायें उसदिन माता-पिता का पूजन करके आशीर्वाद प्राप्त करें ।
🚩गौरतलब है कि पिछले 50 वर्षों से सनातन संस्कृति के सेवाकार्यों में रत रहने वाले तथा सनातन संस्कृति की महिमा से विश्व के जन-मानस को परिचित करवाने वाले हिन्दू संत बापू आसारामजी ने  जब अपने देश के युवावर्ग को पाश्चत्य अंधानुकरण से चरित्रहीन होते देखा तो उनका ह्रदय व्यथित हो उठा और उन्होंने पिछले 13 वर्षों से एक नयी दिशा की ओर युवावर्ग को अग्रसर करते हुए एक विश्वव्यापी अभियान चलाया । #14फरवरी_मातृ_पितृ_पूजन_दिवस
जो आज विश्वव्यापी बन चुका है और करोड़ों लोगों के द्वारा मनाया जा रहा है ।
🚩आओ एक नयी दिशा की ओर कदम बढ़ाएं।
आओ एक सच्ची दिशा की ओर कदम बढ़ाएं।
14 फरवरी को वैलेंटाइन डे नहीं माता-पिता की पूजा करके उनका शुभ आशीष पाएं ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
 🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
 🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
 🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
 🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani January 8, 2019

    गौरतलब है कि पिछले 50 वर्षों से सनातन संस्कृति के सेवाकार्यों में रत रहने वाले तथा सनातन संस्कृति की महिमा से विश्व के जन-मानस को परिचित करवाने वाले हिन्दू संत बापू आसारामजी ने जब अपने देश के युवावर्ग को पाश्चत्य अंधानुकरण से चरित्रहीन होते देखा तो उनका ह्रदय व्यथित हो उठा और उन्होंने पिछले 13 वर्षों से एक नयी दिशा की ओर युवावर्ग को अग्रसर करते हुए एक विश्वव्यापी अभियान चलाया । #14फरवरी_मातृ_पितृ_पूजन_दिवस
    जो आज विश्वव्यापी बन चुका है और करोड़ों लोगों के द्वारा मनाया जा रहा है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »