Press "Enter" to skip to content

हिन्दू महिलाओं ने ऐसा तो क्या किया जो उनके ऊपर दर्ज हुई FIR..

24 नवम्बर 2018
🚩देश में धर्म निरपेक्षता का ज्वर बढ़ता जा रहा है । धर्म निरपेक्षता के नाम पर सिर्फ हिंदुओं पर अत्याचार ही किया जा रहा है और आज हालात ऐसे हैं कि अपने ही देश में हिन्दू बेगाना हो गया है । 
🚩ऐसे तो हमने धर्म निरपेक्षता से सम्बंधित कई किस्से सुने हैं लेकिन समझ नहीं आता कि आखिर सिर्फ हिंदुओं को ही धर्म निरपेक्ष बनने की सलाह क्यों दी जाती है ? किसी अन्य धर्म के लोग यदि अपने धर्म पर अडिग हैं तो उन्हें धर्मनिष्ठ कहा जाता है, उनके कार्यों को सराहा जाता है लेकिन वहीं अगर कोई हिन्दू अपने धर्म के प्रति निष्ठा दिखाए तो उसे कट्टर या असहिष्णु कह दिया जाता है यही नहीं चारों ओर उसके कार्यों की निंदा भी होने लगती है, उसपर FIR तक दर्ज कर दिया जाता है ।
🚩अभी हाल ही एक घटना घटित हुई है जिसमें ताजमहल में कुछ मुस्लिम महिलाओं ने नमाज पढ़ी तो उनके कार्य को सराहा गया और इसे उनका हक बताया गया लेकिन वहीं हिन्दू संगठन की कुछ महिलाओं ने ताजमहल में पूजा कर ली तो देश का सेकुलरिज्म खतरे में आ गया और सेकुलरिज्म को इस खतरे से बाहर निकालने के लिए हिन्दू संगठन की महिलाओं के मौलिक अधिकारों को भी दरकिनार करते हुए उनपर FIR दर्ज कर दिया गया ।
What did the Hindu women do so that the FIRs recorded above them?
🚩खबर के मुताबिक़, आगरा के ताजगंज थाने में हिंदूवादी संगठन, अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद से ताल्लुक रखने वाली तीन महिलाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है । बता दें कि 17 नवंबर को तीन महिलाओं ने ताजमहल में बनी करीब 400 साल पुरानी मस्जिद में पहुंचकर पूजा की थी । इन महिलाओं ने मस्जिद परिसर में धूपबत्ती जलाई और गंगाजल भी छिड़का था । सोशल मीडिया पर संगठन की अध्यक्ष मीना देवी ने वीडियो जारी किया था । मीना देवी के मुताबिक अगर मुस्लिमों को नमाज पढ़ने की इजाजत है तो फिर हम भी ‘तेजोमहालय’ में पूजा कर सकते हैं ।
🚩कहा जाता है कि ताजमहल बनने से पहले यहां भगवान शिव का मंदिर ‘तेजोमहालय’ था, जिसे बाद में ताजमहल कर दिया गया । अब इस मामले पर अज्ञात 3 महिलाओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो गई है । जांच के लिए सीआईएसएफ से सीसीटीवी फुटेज मांगा गया है । वहीं अधिकारियों का कहना है कि सीआईएसएफ के जवानों को मस्जिद में प्रवेश करने की इजाजत नहीं है । इसलिए वे इस घटना के बारे में कुछ नहीं जानते हैं । 
🚩बता दें कि महिलाओं ने पूजा करने का पूरा वीडियो बनाया था और उसे वायरल भी कर दिया था । पिछले दिनों 14 तारीख यानी मंगलवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने रोक के बाद भी ताज में नमाज पढ़ी थी । ताज में नमाज अदा करने के विरोध में राष्ट्रीय बजरंगदल ने ताजमहल में पूजा करने का ऐलान किया था तथा पूजा की थी जिसके बाद उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है ।  स्रोत :- सुदर्शन न्यूज़
🚩इस पूरी घटना से साफ पता चलता है कि यदि किसी अन्य धर्म का अनुयायी, नियमों के विरुद्ध जाकर भी अपने धर्म का पालन करे तो उसे कुछ कहा नहीं जाता लेकिन वहीं यदि हिन्दू धर्म का व्यक्ति अपने धर्म का पालन करे तो चारों ओर हल्ला मचा दिया जाता है ।
🚩कहाँ गए वो पत्रकार, वो अभिनेता और अभिनेत्री तथा नेता और लेखक तथा वो अवार्ड वापसी गैंग जो भारत को असहिष्णु बोला करते थे ? क्या हिन्दू संगठन की महिलाओं पर दर्ज किया गया FIR असहिष्णुता नहीं है ? क्या हिंदुओं को स्वतंत्रता का अधिकार नहीं है? क्या एक ही देश में कानून का पालन धर्म देख कर किया जाता है ? अगर नहीं तो क्यों इतने बड़े अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद की महिलाओं पर FIR दर्ज किया गया ।
🚩जब इतने बड़े संगठन की महिलाओं के साथ ऐसा किया जा सकता है तो आम इंसान की बात ही क्या ?
🚩अब हिंदुओं को एकजुट होकर अपने धर्म के लिए खड़ा होना ही होगा अन्यथा वो दिन दूर नहीं जब इतिहास के पन्नों से हिंदुओं का नामोनिशान मिट जाए।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »