Press "Enter" to skip to content

रमजान पर तेलंगाना सरकार मस्जिदों को बांटेगी 832 लाख रुपए, हिंदू ठनठन पाल

05 मई 2019 
🚩हिंदुस्तान में हिंदू बहुसंख्यक हैं पर उनको कोई अधिकार नहीं दिया जा रहा है जितने भी अधिकार हैं वे सब अल्पसंख्यकों ही दिया जाता है । सरकार कोई भी आए, लेकिन हिंदुओं की अनदेखी ही करते हैं ।
🚩भाग्यनगर (हैदराबाद) : 6 मई से शुरू हो रहे रमजान के मौके पर तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की सरकार ने राज्य के 832 मस्जिदों को 1-1 लाख रुपये कीमत के गिफ्ट पैकेट देने की घोषणा की है । समाज कल्याण मंत्री कोप्पुला ईश्‍वर ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक लेकर रमजान के माैके पर की जानेवाली व्यवस्था की समीक्षा की । तथा अलग-अलग विभाग स्वच्छ करना, अच्छे रोड का निर्माण कार्य एवं हर मस्जिद को लगातार बिजली की आपूर्ति करने के निर्देश दिए हैं ।
🚩1. बैठक में, भाग्यनगर (हैदराबाद) के मक्का मस्जिद में मंडप की अस्थायी मरम्मत करना, नालियों की मरम्मत करना, कचरा जमा करने के लिए पॉलिथीन की थैलीयां उपलब्ध करवाना, विशेष स्वच्छता वाहनों का प्रबंध इन विषयों पर चर्चा की गर्इ ।
🚩2. इस समय सड़कों की मरम्मत, ‘मैनहोल कवर’ बदलना, सड़कों के किनारे जमा कचरे को हटाने के निर्देश कोप्पुला ईश्‍वर ने अधिकारियों को दिए ।
🚩3. इस समय नगर आयुक्त एम्. दाना किशोर ने कहा कि, ‘भाग्यनगर नगर निगम के सरदार महल कार्यालय में रमजान के लिए केंद्रीय नियंत्रण कक्ष स्थापित किया जाएगा।’
🚩स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात
🚩दुनिया में अभी 2-3 तरीके के राज्य हैं एक तो खुद बोलते हैं, हम क्रिश्चियन हैं । ईसाई धर्म पर आधारित राज्य हैं, बाइबल को मानते हैं, हाथ में बाइबल लेकर शपथ ली जाती है राज्य व्यवस्था उसके आधार पर की जाती है । अपना एक स्टेंडर्ड कंटूटिशन भी होता है । दूसरे इस्लामिक राज्य हैं, तीसरे कुछ कम्युनिस्ट राज्य हैं । लेकिन दुनिया में एक अकेला राज्य भारत ऐसा है जो किसीके पक्ष में है या नहीं ये तो नहीं पता, लेकिन हिंदुओं के विरोध में पूरी व्यवस्था है ।
🚩हमारा कोई सेक्युलर राज्य नहीं है हिन्दू राज्य बनाने की बात लोग करते हैं, लेकिन अभी जो हमारी राज्य व्यवस्था है वह हिन्दू विरोधी राज्य व्यवस्था है । ये राज्य व्यवस्था आपको मोटिवेट करती है कि आप हिन्दू धर्म को छोड़ें, ये राज्य व्यवस्था आपको इस प्रकार का रोज सुबह उठने के साथ सोने तक ये एहसास कराती है कि आप इस देश में सेकंड क्लास है डिवीजन है, दूसरे दर्जे के नागरिक हैं । आप देश के अन्य नागरिकों के बराबर नहीं है । आपका बच्चा अगर पैदा होगा तो उसके अधिकार किसी अन्य धर्म में पैदा होने वाले बच्चों से कम होंगे । किसी अन्य धर्म में पैदा होता है तो सरकार उसे पैसा देगी, पढ़ने जाएगा तो सरकार उसे बस्ता देगी, किताब देगी, स्कॉलरशिप देगी, रिजर्वेशन देगी, नौकरी केवल धर्म आधारित पैसा रिजर्वेशन, व्रोटेशन, मोटिवेशन केवल और केवल धर्म आधारित पैसा रिजर्वेशन, प्रोक्शन, संगठन , मोटिवेशन इस देश की राज्य व्यवस्था दे रही है । उसमें भी शब्द यूज़ करते है कि minority अल्पसंख्यक। मेरे को लगता है पूरे ब्रह्मांड में 25 करोड़ वाला अल्पसंख्यक केवल भारत में ही बैठा हुआ है । और वो इतना अल्पसंख्यक है कि उसके हर बच्चे के 7-8 बच्चे पैदा हो रहे हैं । जब ये कहा गया कि मुसलमानों  की तरक्की के लिए योजना लाओ तो मुझे लगता है कि नसबन्दी की योजना सबसे बड़ी योजना है जिससे मुसलमानों की तरक्की हो सकती है ।
🚩इस देश में हिंदुओं की मांग तो रखी जाए बोला तो जाए। अगर हम कहते हैं हिंदुओं को मुसलमान के समान अधिकार दिया जाए तो कहेंगे सम्प्रदायी हो । भड़काऊ बातें करते हो तुम्हारी बातों से दंगा फैल सकता है । तुम आतंकवादी हो केवल समान अधिकार मांगने पर इतनी बात बोल दी जाती है।
🚩दुनियाभर में हिंदुओं को प्रताड़ित किया जाता है, लेकिन हिंदुस्तान ही हिंदुओं का एकमात्र देश है तो पहला अधिकार हिंदुओं का होना ही चाहिए ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Translate »