Press "Enter" to skip to content

भारत की जनता : हम 14 फरवरी का कर रहे हैं बेसब्री से इंतजार

12 फरवरी  2019
www.azaadbharat.org
🚩अधिकतर युवक-युवतियों को 14 फरवरी का नाम सुनते ही वेलेंटाइन डे याद आता है, क्योंकि टीवी, मीडिया, अखबार, सोशल मीडिया आदि में इसका खूब प्रचार करवाया जाता है लेकिन इस बार देश की जनता का कुछ अलग ही मूड है, आज ट्वीटर पर एक हैशटैग द्वारा हजारों लोग ट्वीट करके अपनी बात रख रहे थे, जिसमें उनका कुछ इस प्रकार का कहना था…
🚩आइये देखे कुछ नमूने :

🚩1. गार्गी पटेल लिखती है कि हाय डैड हाय माॅम सुनने वाले लोगों के संतान जब पहली बार मातृ – पितृ पूजन दिवस मनाते हैं ,तो उनके आँखो से सहज ही  प्रेमाश्रु आ जाते हैं। इसलिए हम सभी इस पावन दिवस का इंतजार करते हैं। #Waiting4ParentsWorshipDay  initiated by Sant Shri Asaram Bapu Ji
https://twitter.com/gargi088/status/1095323923548229632?s=19
🚩2. संदीप ने लिखा कि मातृ-पितृ पूजन दिवस विश्व का एकमात्र ऐसा पर्व है जो सभी धर्मों द्वारा समान रूप से मनाया जाता है और इसे मनाकर हृदय प्रेम व आनंद से भर जाता है, तो लोग क्यों न करें इसका बेसब्री से इंतजार। #Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/sandeeptrue1988/status/1095147182074675200?s=19
🚩3. प्रेम चौधरी लिखते है कि भारत जो विश्व में अपनी संस्कृति और संतों के लिए प्रसिद्ध है । उस देश में पाश्चात्य सभ्यता की गन्दगी न आने पाये इसके लिए हर हिंदुस्तानी का कर्तव्य बनता है कि वो भी वैलेंटाइन डे न मनाकर #मातृपितृ_पूजन_दिवस अवश्य मनाएं।
#Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/premchaudhary_/status/1095323776009424896?s=19
🚩4. जागो हिंदस्तानी के हैन्डल से बताया कि
अब गांव- गांव शहर- शहर मातृ-पितृ पूजन दिवस की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है। Sant Shri Asaram Bapu Ji के द्वारा 14 फरवरी को जो” मातृ-पितृ पूजन दिवस” का शंखनाद किया है उसकी गूंज चारो तरफ फैल चुकी है।#Waiting4ParentsWorshipDay https://twitter.com/jagohindustani_/status/1095325314551431169?s=19
🚩5. अच्युत ने लिखा कि 14 फरवरी को दिग्भ्रमित युवा वैलेंटाइन डे मनाकर अपनी संस्कृति को हानि पहुचाते हैं,इसकी पीड़ा Sant Shri Asaram Bapu Ji से सहन नही हुई और उन्होंने 14 फरवरी को ‘मातृ पितृ पूजन दिवस’ पर्व का शंखनाद किया। #Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/Pryamvada07/status/1095147758258860032?s=19
🚩6. आर्यवर्त ने बताया कि माता-पिता की सेवा और उनकी आज्ञा पालन से बढ़कर कोई धर्म नहीं है।
माता ममत्व एवं पिता अनुशासन के प्रत्यक्ष देवता होते हैं।
‘मातृ देवो भव,पितृ देवो भव’ कहते है।
माता-पिता को प्रत्यक्ष देवता मानकर उनकी सेवा भक्ति करने का उपदेश हमारे शास्त्रों में हैं।
#Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/Aryavrta/status/1095123410613465088?s=19
🚩7. दीपिका लिखती है कि माता पिता हमारे प्रथम गुरु है। माता पिता हमारे भगवान है। लोग माता पिता का महत्व समझें और सम्मान करें इसके लिए Sant Asaram Bapu Ji ने ‘मातृ पितृ पूजन दिवस’ की शुरुआत की।
#TuesdayThoughts
#Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/dipika525/status/1095132434683723777?s=19
🚩8. ब्रज मोहन ने लिखा है कि पूजन करू मैं मात पिता का भजन सुनकर भावुक हुए माता पिता बोले सच मे बहुत प्रभावित करने वाला है ये दिवस।
आइये आप और हम भी 14 फरवरी को मातृ -पितृ पूजन दिवस बनाए।
#Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/BrajmohanMalvi/status/1095125798300708864?s=19
🚩9. परंचितब ने लिखा कि समाज में युवावर्ग का चारित्रिक पतन होते देख मानवमात्र के परम हितैषी करुणानिधी Sant Shri Asaram Bapu Ji ने एक अनूठी मुहिम की तरफ युवाओं को आकर्षित किया,जो है मातृ पितृ पूजन दिवस!जिसका देश-विदेश की सभी सम्मानीय एवं प्रतिष्ठित हस्तियों ने स्वागत किया है!
#Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/pranchitb25/status/1094911619853967364?s=19
🚩10. मुकेश सोनी ने लिखा कि देखो Sant Shri Asaram Bapu Ji का प्रताप, पृथ्वी पर पुनः दिव्यता छाई।
कलयुग के मध्य में सतयुग ने आभा फैलाई।
वासना के अंध वैलन्टाइन को ठुकराकर,
पुण्य-संतानों ने मातृ-पितृ पूजन दिवस की ज्योति जलाई।
#Waiting4ParentsWorshipDay
https://twitter.com/Mukeshsoni1982/status/1095331113579405320?s=19
🚩इस तरह से हैशटैग #Waiting4ParentsWorshipDay को लेकर हजारों लोग ट्वीट कर रहे थे और बता रहे थे कि हम 14 फरवरी को  वेलेंटाइन डे नही बल्कि मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाएंगे ।
आपको बता दें कि भारत में अपने व्यापार का स्तर बढ़ाने के लिए अंतरराष्ट्रीय कम्पनियां वैलेंटाइन डे की गंदगी यहाँ लेकर आई हैं और वे ही कम्पनियां मीडिया को पैसे देकर वैलेंटाइन डे का खूब जोरों-शोरों से प्रचार-प्रसार करवाती हैं जिसके कारण उनका व्यापार लाखों- करोड़ों और अरबों में नहीं वरन खरबों में हो जाता है ।
🚩भारत में इसके भयंकर परिणाम देखे बिना ही वैलेंटाइन डे मनाना शुरू कर दिया गया जबकि कई रिकार्ड्स के आधार पर देखा जाए तो विदेशों में वैलेंटाइन डे मनाने के भयावह परिणाम सामने आए हैं ।
दूसरी ओर शास्त्रों में लिखा है कि
‘जो माता-पिता और गुरुजनों को प्रणाम करता है और उनकी सेवा करता है, उसकी आयु, विद्या, यश और बल चारों बढ़ते हैं ।’ (मनुस्मृतिः 2.121)
🚩अब देश के युवक-युवतियों को विदेशी गंदगी का त्याग करके अपनी संस्कृति को अपनाना चाहिए, इसलिए 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे नही बल्कि मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाना चाहिए।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

One Comment

  1. Ketan Patel Ketan Patel February 12, 2019

    Valentine’s day is the main reason for increasing depression, teenage Pregnancy, drugs &rapes among teenagers.

    That’s why Asaram Bapu Ji initiated PWD so that youngsters realize the true meaning of love.

Comments are closed.

Translate »