Press "Enter" to skip to content

चीन ने मुसलमानों के बाद ईसाइयों पर कसा नकेल

16 October 2018
🚩भारत सहिष्णु देश है इसके कारण राष्ट्रविरोधी ताकतें इसका जमकर फायदा उठा रही हैं । अल्पसंख्यक मुसलमान और ईसाई लोगो ने बहुसंख्यक हिन्दुओं पर कहर बरसाया है । देश में जितनी भी सुख-सुविधा है वह सब अल्पसंख्यकों को दी जा रही है और हिन्दूओं से टेक्स वसूला जा रहा है, सारी सुख-सुविधाओं का उपभोग करके भी हिन्दुओं को ही असहिष्णु बता रहे हैं और मीडिया, नेता, सेक्युलर उनका साथ दे रहे हैं ।
🚩भारत में ये लोग धर्म के नाम पर सब कर लेते हैं, लेकिन विदेशो में ऐसा नहीं चलता है, चीन तो इसमें खास कर के इस बाबत पर सख्त है ।
China follows Muslims after MuslimsChina
 follows Muslims after Muslims

🚩पिछले दिनों ही मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरनेशनल ने चीन के पश्चिमी प्रांत शिजियांग में मुस्लिमों के खिलाफ सरकारी दमन पर चिंता जताई थी तथा कहा था कि चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगर मुस्लिमों को प्रताड़ित किया जा रहा है । एमनेस्टी इंटरनेशनल की रिपोर्ट में कहा था कि चीन में मुस्लिमों पर अत्याचार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि शिनजियांग में मुस्लिमों को कैंपों में कैदी बनाकर रखा गया है, उन्हें नमाज पढ़ने से रोका जा रहा है, उन्हें दाढ़ी बढ़ाने से रोका जा रहा है । इस रिपोर्ट के बाद दुनियाभर में खलबली मच गयी थी, लेकिन चीन पर इसका कुछ भी फर्क नहीं पड़ा था । चीन सरकार ने साफ़ कर दिया था कि वह अपने देश को सीरिया व लीबिया नहीं बनने देगा ।
🚩लेकिन अब चीन से जो खबर आयी है वो और भी अधिक चौकाने वाली है । चीन ने मुस्लिमों के बाद अब ईसाइयों का नंबर लगाया है जिसके बाद न सिर्फ यूरोपीय देश बल्कि पूरी दुनिया आश्चर्यचकित है । 
चीन ने अब मुस्लिमों के बाद ईसाईयों के खिलाफ एक्शन लेना शुरू कर  दिया है, जिसके निशाने पर न सिर्फ ईसाई जनता बल्कि चर्च और पादरी भी है ।
🚩खबर के मुताबिक़, चीन सरकार ने राजधानी बीजिंग सहित तमाम बड़े मौजूद गिरिजाघरों और चर्चों को बंद कराने, ढहाने का आदेश दे दिया है । स्थिति ये हो गयी है कि हेनान प्रांत में रोमन कैथोलिकों समुदाय के पास प्रार्थना करने के लिए कोई जगह नहीं बची है ।
🚩इसका उदाहरण मध्य चीन के कैथोलिक चर्च के बाहर लगे एक सरकारी साइन बोर्ड में देखा जा सकता है । जिसमें बच्चों को प्रार्थना में नहीं शामिल होने की चेतावनी दी गई है । साथ ही चीन में बड़े पैमाने पर “अवैध” चर्च गिराए जा रहे हैं । चीन सरकार ने चर्च के शीर्ष पर से क्रॉस हटाने का आदेश दिया है । इसके अलावा सरकार ने चर्च से मुद्रित धार्मिक सामग्रियों और पवित्र चीजों को जब्त कर लिया गया है, और चर्च द्वारा चलाए जाने वाले केजी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त सार्वजनिक स्थानों से धार्मिक प्रतिमाओं को हटाने को भी कहा गया है । स्त्रोत : सुदर्शन न्यूज़
🚩चीन में बौद्ध धर्म को मानने वाले बहुसंख्यक है, ईसाई और मुसलमान अल्पसंख्यक है । फिर भी चीन उनको कोई सुख-सुविधा प्रदान नहीं करता है और उनकी क्लास लगाकर रख दी है, उन्हें कोई धार्मिक स्वतंत्रता नहीं दी जा रही है, मतलब ये है कि पहले देश की सुरक्षा देखी जा रही है, वहाँ कोई धर्मपरिवर्तन नहीं करवा सकता है, लव जिहाद नहीं कर सकता, दंगे नही कर सकते, और ना ही खुल्ले में नमाज पढ़ सकता है ।
🚩भारत देश में सहिष्णुता के नाम पर हिन्दू कायर हो गए हैं । सरकार, मीडिया, सेक्युलर, नेता सब अल्पसंख्यकों के ही गुणगान करते हैं और उनकी ही सुख-सुविधाओं की बातें करते हैं । भले वे लोग कितनी भी मस्जिदें बना लें, चर्च बना लें, आतंक मचाएं, दंगे करें, लव जिहाद का कैम्पियन चलाएं, धर्मपरिवर्तन करवाएं, लेकिन उनको कोई कुछ नहीं बोलेगा, परन्तु यदि किसी हिन्दू ने मंदिर बना लिया तो टेक्स देना पड़ेगा, किसी हिन्दू ने जिहादी या धर्मपरिवर्तन वालों को रोका तो मीडिया, सेक्युलर, वामपंथी उसपर टूट पड़ेंगे, यहां तक की उसकी हत्या तक करवा देते हैं ।
🚩भारत सरकार व हिन्दुओं को अब सावधान होने की आवश्यकता है, चीन जैसे कठोर कदम उठाने होंगे अन्यथा एक दिन ऐसा आएगा कि ये लोग देश को फिर से गुलाम बना लेंगे या देश को खंड-खंड कर देंगे ।
🚩हिंदुनिष्ठ व हिन्दू साधु-संत इसके बारे में सोचते है और उसपर कार्य करते हैं तो राष्ट्रविरोधी ताकतें उनको झूठे केस में जेल भेज देते हैं या उनकी हत्या करवा दी जाती है इसलिए सावधान रहें, उनपर हो रहे षड्यंत्र को रोकें और देश को बचाएं ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

2 Comments

  1. Surender kumar Surender kumar October 16, 2018

    Right

    Proper watch & control on activities of christian missionaries has become mandatory.

  2. Ghanshyam das godwani Ghanshyam das godwani October 16, 2018

    भारत सरकार व हिन्दुओं को अब सावधान होने की आवश्यकता है, चीन जैसे कठोर कदम उठाने होंगे अन्यथा एक दिन ऐसा आएगा कि ये लोग देश को फिर से गुलाम बना लेंगे या देश को खंड-खंड कर देंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »