Press "Enter" to skip to content

कठुआ कांड में हिंदुओं तथा आसाराम बापू व नारायण साईं को क्यों मिली उम्रकैद ?

14 जून 2019
www.azaadbharat.org
🚩आपने देखा होगा कि आए दिन बलात्कार की घटनाएं सामने आती रहती हैं, उसमें यदि ईसाई पादरी एवं मौलवी दोषी हों तो अधिकतर घटनाएं अखबार के किसी कोने में छपती हैं या टीवी में एक छोटी सी पट्टी मात्र आती है, पर हिंदुओं पर आरोप लगे तो वे घटनाएं इतनी तूल पकड़ती हैं कि ऐसा लगता है कि दुनिया में सबसे बड़े अपराधी यही लोग हैं, इनको फांसी की सजा होनी चाहिए और एकतरफा इतनी खबरें आती हैं कि उनके प्रति जनमानस के मन में घृणा का भाव आने लगता है और न्यायालय भी दूसरे पक्ष की ओर न देखकर एकतरफा डिसीजन दे देता है फिर भले वे ऊपरी कोर्ट से निर्दोष बरी हो जाये ।
🚩आपको बता दें कि आरुषि हत्या कांड में उनके मां-बाप के खिलाफ इतना मीडिया ट्रायल चला की निचली अदालत ने उम्रकैद सजा सुना दी, फिर 9 साल बाद हाईकोर्ट ने निर्दोष बरी किया । यह तो आपको एक उदाहरण मात्र दिया है, बाकी मीडिया ट्रायल के कारण जज भी दबाव में आकर फैसला देते हैं, ऐसे कई उदाहरण हैं ।
🚩बता दे कि हिंदू संत आसाराम बापू के खिलाफ एक लड़की ने छेड़खानी का आरोप लगाया पर मीडिया ने मनगढ़ंत कहानी बना, उस घटना को बलात्कार की घटना बनाकर 365 दिन, 24 घण्टे  खबरें चलाई । ऐसे ही नारायण साईं के खिलाफ भी ऐसा ही मीडिया ट्रायल चला और कठुआ कांड में भी खूब मीडिया ट्रायल चला और तीनों केस में उम्रकैद मिली है । कहीं यह हिन्दू धर्मगुरुओं और हिंदुओं को अंतरराष्ट्रीय लेवल पर बदनाम करने का षड्यंत्र तो नहीं है ?
🚩हिंदू संत आसाराम बापू का केस-
1. तथाकथित घटना के 5 दिन बाद FIR करवाई गई । आश्चर्य की बात तो ये है कि जोधपुर की घटना का FIR जोधपुर से 600 कि.मी.दूर दिल्ली में रात्रि 2:45 बजे दर्ज करवाया जाता है ।
🚩2. हेल्पलाइन रजिस्टर के कई पन्ने संदिग्ध तरीके से फाड़े गए ।
3. 20.08.2013 को लड़की के न्यायालय में मैजिस्ट्रेट के सामने 164 के बयान होने के बाद F.I.R. 21.08.2013 को न्यायालय में पेश की गई ।
🚩4. कमला मार्केट पुलिस स्टेशन, दिल्ली में F.I.R. लिखते समय की गई वीडियो रिकॉर्डिंग गायब कर दी गई, जो आज तक न्यायालय में प्रस्तुत नहीं की गई ।
5. ओरिजिनल एफ.आई.आर. को बदल दिया गया, FIR और FIR की कार्बन कॉपी में अंतर पाया गया ।
🚩6. जोधपुर के पुलिस स्टेशन में लड़की के बयान की वीडियो रिकार्डिंग में कई जगह interruptions पाए गए |
7.मेडिकल में भी लड़की के शरीर पर एक खरोंच का भी निशान नहीं पाया गया ।
🚩8. उम्र संबंधी अलग-अलग सर्टिफिकेट में लड़की की उम्र अलग-अलग पाई गई ।
9. अनुसंधान अधिकारी चंचल मिश्रा द्वारा 12 अगस्त से 17 अगस्त 2013 (घटना के समय) की कॉल डिटेल हटाकर कोर्ट में पेश की गई ।
🚩10. लड़की की कॉल डिटेल से स्पष्ट हुआ कि घटना की रात लड़की किसी संदिग्ध व्यक्ति से फोन द्वारा संपर्क में थी ।
11. तथाकथित घटना के समय बापू आसारामजी मँगनी कार्यक्रम में व्यस्त थे, लड़की कुटिया में गई ही नहीं ।
🚩12. बताया गया था कि बापू आशारामजी के सेवादार शिवा ने लड़की को बुलाया और उनके पास लेकर गया जबकि शिवा उसदिन ट्रेन में था फिर कैसे लेकर गया और तो और शिवा निर्दोष बरी हुआ जिससे यह सिद्ध होता है कि लड़की गई ही नहीं, तो सजा किस आधार पर ?
🚩अधिवक्ता सुराणा जी ने बताया कि लड़की के माँ-बाप ने जयपुर में भी एक वकील को झूठा मुकदमा दर्ज करवाने के लिए मोटी रकम देने का ऑफर दिया था । इस बात की पुष्टि खुद उस वकील ने न्यायालय में की है।
🚩आपको बता दें कि बापू अशारामजी को एक फैक्स भेजा था कि 50 करोड़ दो नहीं तो जेल जाने के लिए तैयार रहो उसके बाद ये घटना बनी, पचास करोड़ की फिरौती के लिए पूरा घटनाक्रम तैयार किया गया ।
🚩नारायण साईं का केस-
नारायण साईं पर 11 साल पुराना दुष्कर्म केस दर्ज हुआ है और जिस लड़की ने आरोप लगाया वे उनके सत्संग के कार्यक्रम में जनवरी 2013 तक आती रही और अक्टूबर 2013 में आरोप लगाया । किसी के साथ बलात्कार हुआ तो वे दूसरी बार आएगी? फिर इतने साल क्यों आती रही?
🚩वरिष्ठ अधिवक्ता बी.एम गुप्ता का कहना है कि कोई भी मेडिकल प्रूफ नहीं है, लेकिन केवल लड़की के बयान पर सजा दी गई । लड़की के बयान पूर्ण रूप से संदेह भरे हैं । जिस लड़की ने नारायण साईं पर आरोप लगया है उसने बोला कि जिस समय मेरे साथ दुर्व्यवहार हुआ, उस समय मेरी एक सहेली थी लेकिन जिस सहेली का नाम ले रही थी उसने ही न्यायलय में खंडन किया कि झूठी कहानी बताई जा रही है इस तरह से कोई भी गलत कार्य हुआ ही नहीं है।
🚩गुप्ताजी ने ये भी बताया कि लड़की ने नारायण साईं से पैसे की मांग भी की थी, लेकिन पैसे नहीं दिए गए । इसकी CD भी है और न्यायलय में पेश भी की गई है और यह CD फोरेंसिक जांच में सहीं पाई गई है।
🚩कठुआ कांड-
अब बात करते हैं कठुआ कांड की । देवीस्थान जिसे घटना स्थल बताया जा रहा है, वहाँ चारों तरफ जाली लगी है, उसका दरवाजा भी जाली का है, बाहर से कोई भी अंदर होने वाली गतिविधियों को देख सकता है और मंदिर में तहखाना भी नहीं है जिसमें बच्ची को छुपाकर रख सकें । फिर 4 दिन जाली वाले मंदिर में कैसे रखा होगा ? जबकि उसके पिताजी भी मंदिर में देखने आए थे और मंदिर में हररोज पूजा होती है और बीच में एक बड़ा भंडार भी हुआ था फिर भी किसी ने बच्ची को नहीं देखा ? यह तो बड़ा आश्चर्य है।
🚩बताया गया कि 13 जनवरी को साजी राम और उसके बेटे ने रेप किया जबकि CCTV फुटेज में साफ है कि विशाल उस दिन उत्तरप्रदेश में था तो यहाँ भी सवाल उठ रहे हैं कि जब विशाल ने रेप नहीं किया तो औरों ने कैसे किया होगा ?
साजी राम ने खुद अपने नार्को टेस्ट और CBI जांच की मांग की थी पर सुप्रीम कोर्ट ने उसे क्यों ठुकरा दिया?
🚩इन तीनों केस में देखा जाए तो बचाव पक्ष के पास उनके पक्ष में सबूत है पर उसकी अनदेखी की गई और उनके खिलाफ जो मीडिया ट्रायल चला उससे कारण उनको उम्रकैद सजा मिली है, भले वो ऊपरी कोर्ट से निर्दोष बरी हो जाएं पर अभी तो उनको जेल में रहना पड़ेगा।

🚩आपको बता दें कि हिंदू संत आसाराम बापू ने लाखों हिंदूओ की घरवासपी करवाई, करोड़ों लोगों को हिंदू धर्म के प्रति जागरूक किया, करोड़ो लोगों के व्यसन छुड़ाये, वेलेंटाइन डे की जगह मातृ-पितृ पूजन शुरू किया, यही कार्य नारायण साईं भी कर रहे थे इसके कारण उनके खिलाफ मिशनरियां व विदेशी कंपनियां पड़ गई और मीडिया में खूब बदनामी करवाकर कुछ स्वार्थी नेताओं से मिलकर जेल भिजवा दिया।
🚩कठुआ कांड भी एक तरफा है जबकि साजी राम एक प्रभावशाली व धार्मिक व्यक्ति था उन्होंने जम्मू में हिंदू धर्म के प्रति कार्य किये थे और कर रहे थे, जो असामाजिक तत्वों को रास नहीं आया और उनके खिलाफ षड्यंत्र रचा गया ऐसा लग रहा है।
🚩अब ये तीनो मामलों में ऊपरी कोर्ट में सुनवाई होगी उसके बाद  दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा । पर ये तो साफ है कि जो भी हिंदू संस्कृति के लिए आगे आकर कार्य करता है उसको साजिश करके फँसाया जाता है। अभी भी वक्त है हिंदुओं को जागना चाहिए और षड्यंत्र का विरोध करना चाहिए नहीं तो आज कोई है और कल हमारी बारी भी आ सकती है।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Translate »