Press "Enter" to skip to content

इन खबरों पर न मीडिया हल्ला करेगी और ना ही न्यायालय संज्ञान लेगा

09 अगस्त 2019
http://azaadbharat.org
🚩जब किसी हिंदू साधु-संत पर साजिश के तहत झूठा आरोप लगता है तो इलेक्ट्रॉिक व प्रिंट मीडिया कई दिों तक खबरे चलाती हैं, लेकि जैसे ही किसी ईसाई पादरी या मौलवी परआरोप लगता है तो इसपर किसी कोे में छोटी सी खबर बताएंगे जिससे जता का उसपर ध्या ही  जाएं जिसके उका धर्मा्तरण का कार्य रुके हीं । मीडिया हिंदु धर्म को बदाम करे के लिए हिंदु धर्मगुरुओं के खिलाफ कई झूठी कहाियां बाकर जता को परोसती है जिसके कारण हिंदू धर्म की बदामी होती रहे और लोगो की श्रद्धा कम हो जाए यह भी भारतीय संस्कृति को तोड़े का एक षडयंत्र ही है।

🚩सिस्टर को चर्च से बाहर िकाला
🚩केरल में रेप के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ मोर्चा खोले वाली सिस्टर लूसी को फ्रैंसिश क्लैरिस्ट कॉ्ग्रिगेश से बाहर कर दिया गया है।  फ्रैंसिश क्लैरिस्ट कॉ्ग्रिगेश केरल में काम करे वाली एक ईसाई संस्था है। सिस्टर लूसी इस संस्था की एक  हैं।  सिस्टर लूसी पर ये अुशासात्मक कार्रवाई  फ्रैंसिश क्लैरिस्ट कॉ्ग्रिगेश की सुपीरियर जरल े की है।
🚩बता दें कि पिछले साल जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल को केरल पुलिस े गिरफ्तार किया था। बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर 2014 से 2016 के बीच एक  के साथ कई बार रेप करे का आरोप लगा था। पुलिस े पिछले वर्ष जुलाई में बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ केरल के कोट्टायम में रेप और यौ शोषण की शिकायत दर्ज की थी। इसमें आरोप लगाया गया था कि जालंधर के बिशप काम के सिलसिले में अक्सर केरल आते-जाते रहते थे। इस दौरा उ्होंे कई बार एक  के साथ रेप की वारदात को अंजाम दिया।
🚩बिशप फ्रैंको मुलक्कल पर ये आरोप लगे के बाद सिस्टर लूसी े दूसरी ों के साथ कोच्चि की गलियों में उके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। सिस्टर लूसी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ विरोध प्रदर्शों में शामिल हुई थीं, और उकी गिरफ्तारी की मांग की थी। स्त्रोत : आज तक
🚩विरोध करे वाली 4  को कॉ्वेंट से िकाला-
केरल के बहुचर्चित  रेप मामले में आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल का विरोध करे वाली चार  को हटा दिया गया है।
🚩इनमे से एक  े बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ रेप करे की शिकायत दर्ज की थी। बाद में इन सभी  े मुलक्कल की गिरफ्तारी को लेकर विरोध प्रदर्श किया था। चारों को तबादला पत्र थमाते हुए अलग-अलग कॉ्वेंट में जाे को कहा गया था।
🚩बया देे वाले फादर की मौत-
केरल के चर्चित  रेप केस के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलक्कल के खिलाफ बया देे वाले फादर कुरियाकोस की अक्टूबर 2018 में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि कुरियाकोस को लगातार धमकियां मिल रही थी और हाल ही में उकी कार पर हमला भी हुआ था।गौर करे वाली बात यह है कि केरल उच्च ्यायालय से जमात मिले के बाद आरोपी फ्रैंको मुलक्कल 17 अक्टूबर को ही जालंधर पहुंचा है। उसके जालंधर पहुंचे के 5 दि के अंदर ही फादर कुरियाकोस की मौत हो गई।
🚩फादर कुरियाकोस की भाभी े ्यूज 18 से बातचीत में कहा कि, फ्रैंको की आेर से कुरियाकोस को लगातार धमकियां मिल रही थीं। उ्होंे कहा कि इस मामले में उ लोगों े पुलिस में केस भी दर्ज करवाया था।
स्त्रोत : ्युज18
https://www.hindujagruti.org/hindi/news/144306.html
🚩अब इती बड़ी खबरें है फिर भी किसी मीडिया े  इसको हाईलाइट हीं किया और ा ही किसी सेकुलर े इसपर हल्ला किया।
🚩आपको बता दें कि यह तो एक बिशप फ्रैंको की बात कर रहे हैं । बाकी तो ऐसे कई ईसाई पादरी हैं जि्होंे कई छोटे बच्चों के साथ और कई  के साथ रेप किया है पर मीडिया इस परमौ रहती है। दूसरी तरफ ्यायालय भी उको तुरंत राहत दे देती है। बिशप फ्रैंको को 21 दि में ही जमात हासिल हो गई थी जबकि 85 वर्षीय हिंदू संत आसाराम बापू के खिलाफ 5 साल तक ्यायालय में सुवाई होती रही पर 1 दि भी जमात हीं दी गई, हर बार खारिज कर दिया गया ।
🚩मीडिया द्वारा हिंदू साधु-संतों को बदाम करा और ्यायलय द्वारा जमात  हीं मिला और ईसाई पादरी और मौलवी के दुष्कर्म को छुपाा और ्यायालय से तुरंत जमात हासिल होा, यह भारतीय संस्कृति को खत्म करे का यह एक भयंकर साजिश ही है, हिंदुस्ताी इससे सावधा रहें।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Translate »